townaajtak@gmail.com

Tag: bihar

ये कैसी शराबबंदी: गोपालगंज में 13 और बेतिया में 10 लोगों की जान गई, 14 की हालत गंभीर

ये कैसी शराबबंदी: गोपालगंज में 13 और बेतिया में 10 लोगों की जान गई, 14 की हालत गंभीर

बिहार में शराबबंदी है लेकिन जहरीली शराब से मरने वाले कम नहीं हैं। राज्य के दो जिलों में बीते दो दिनों में 23 लोगों की मौत हो चुकी है। 14 की हालत गंभीर है। मरने वालों में 13 गोपालगंज के रहने वाले थे। यहां 7 लोगों की हालत गंभीर है। इनमें 3 लोगों की आंखों की रोशनी चली गई है। बेतिया में 10 मौतें हुई हैं। यहां 7 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। आशंका है कि इन सभी ने जहरीली शराब पी थी। गोपालगंज में मरने वाले सभी लोग महम्मदपुर थाने के कुशहर, महम्मदपुर, मंगोलपुर, बुचेया और छपरा के मसरख थाने के रसौली गांव के रहने वाले थे। इन सभी ने मंगलवार को शराब पी थी। इसके बाद इनकी तबीयत बिगड़ना शुरू हो गई थी। बेतिया की घटना में पीड़ितों के परिजन ने बताया कि बुधवार शाम इन लोगों ने गांव में देसी चुल्हाई शराब पी थी। देर रात तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल में भर्ती करवाया। इनमें से 10 लोगों ने इलाज के दौरान दम तो
सामने आ गया पटना मेट्रो के स्टेशनों का नाम

सामने आ गया पटना मेट्रो के स्टेशनों का नाम

https://www.youtube.com/watch?v=FqfV2SzmDPQ&t=6s पटना में मेट्रो का काम काफी तेजी से चल रहा है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो साल 2025 के विधानसभा चुनाव तक पटना मेट्रो की शुरुआत हो चुकी होगी। आज हम आपको पटना मेट्रो के स्टेशनों के बारे में बताएंगे। हम बताएंगे कि पटना के फिलहाल कितने मेट्रो स्टेशनों को बनाए जाने का प्रस्ताव है और इनका नाम क्या है। बहरहाल, आइए जान लेते हैं पटना मेट्रो स्टेशनों के नाम। सबसे पहला नाम पटना सिटी स्टेशन का आता है। इस मेट्रोल स्टेशन के भूमिगत रखे जाने का प्रस्ताव है। इसके अलावा आकाशवाणी, गांधी मैदान, पीएमसीएच, पटना विश्वविद्यालय, मोइनुल हक स्टेडियम, राजेंद्र नगर मेट्रो स्टेशन भी भूमिगत रहेंगे। वहीं, मलाही पकड़ी, खेमनीचक, भूतनाथ रोड, जीरो माइल, पाटलिपुत्र आइएसबीटी मेट्रो स्टेशन उपरीगामी रहेंगे। यानी इन स्टेशनों पर मेट्रो उपर से जाएगी। बता दें कि पटना मेट्रो
Siwan News: सीवान के नेताओं को आपकी फिक्र कितनी?

Siwan News: सीवान के नेताओं को आपकी फिक्र कितनी?

https://www.youtube.com/watch?v=dO69Ly3EOo8 सीवान में क्राइम का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। हर दिन आपराधिक घटनाएं देखने को मिल रही हैं। इस वजह से जिले के लोगों के बीच भय का माहौल है। अब सवाल है कि इस माहौल में आपके जनप्रतिनिधि क्या कर रहे हैं। तो इसका जवाब है कि आपके जनप्रतिनिधि तारापुर और कुशेश्वर स्थान विधानसभा उपचुनाव में व्यस्त हैं। जी हां, आपके जिला यानी सीवान के छोटे से लेकर बड़े नेता, हर कोई तारापुर और कुशेश्वर स्थान पर होने वाले उपचुनाव में प्रचार में व्यस्त है। पार्टी डेकोरम के हिसाब से चुनाव प्रचार में व्यस्त होना कुछ गलत नहीं है लेकिन ये गलती तब बन जाती है जब आप अपने ही जिले के प्रति जवाबदेह नहीं रह जाते हैं। सीवान के आपराधिक घटनाओं पर जनप्रतिनिधियों की चुप्पी निश्चित ही हैरान करने वाला है। अपराध पर नियंत्रण कैसे हो, इसकी रणनीति नहीं बन पा रही है। ये भी अहम है कि कुछ आपराधिक मामले
बिहार में एक दिन में रिकॉर्ड 23.5 लाख लोगों का टीकाकरण

बिहार में एक दिन में रिकॉर्ड 23.5 लाख लोगों का टीकाकरण

बिहार में एक दिन में रिकॉर्ड संख्या में 23.5 लाख लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की खुराक दी गई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से बुधवार को जारी बुलेटिन में यह जानकारी दी गयी है। पटना, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, गया, पूर्वी चम्पारण समेत कई जिलों में टीकाकरण महाभियान के तहत मंगलवार को एक-एक लाख से अधिक लाभार्थियों को टीके की खुराक दी गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार देर रात ट्वीट कर 20 लाख से अधिक लोगों के टीकाकरण पर प्रसन्नता जाहिर की और कहा कि इस रफ्तार से राज्य में छह माह में छह करोड़ टीकाकरण अभियान का लक्ष्य हासिल होगा। उन्होंने कहा कि बिहार में अब तक दो करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी है।
बिहार: आइसोलेशन वार्ड के शौचालय में मिली कोरोना पॉजिटिव युवक की बॉडी

बिहार: आइसोलेशन वार्ड के शौचालय में मिली कोरोना पॉजिटिव युवक की बॉडी

दरभंगा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (DMCH) के कोरोना आइसोलेशन वार्ड स्थित शौचालय में कोरोना पॉजिटिव युवक की लाश मिली है। रविवार सुबह परिजन युवक से मिलने आईलेशन वार्ड में गए तो वह वहां नहीं मिला। इसके बाद ढूंढते हुए शौचालय गए तो दंग रह गए। युवक की लाश शौचालय में थी। घटना के बाद परिजन आक्रोशित हो गए और हंगामा करने लगे। गुस्साए लोगों ने हॉस्पिटल परिसर में जमकर तोड़फोड़ की, जिससे हॉस्पिटल के अंदर और बाहर कई कीमती सामान क्षतिग्रस्त हो गए। इधर, घटना की सूचना मिलते ही मौके पर सदर SDO राकेश कुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने ने परिजनों को समझा-बुझाकर शांत करवाया। पुलिस के अनुसार हॉस्पिटल के अंदर लगे शीशे के गेट और दीवार को क्षतिग्रस्त किया गया है। टेबल-कुर्सियों को पलटा दिया गया। मृतक युवक के परिजनों ने लिखित शिकायत अबतक नहीं दी है। अस्पताल परिसर में तोड़फोड़ करने वालों की पहचान की जा रही है

बिहार: स्कूल बंद, शादी और कार्यक्रमों में ​सीमित लोग होंगे शामिल, जानिए नए नियम

बिहार सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को 12 अप्रैल तक बंद रखने का फैसला लिया है। शनिवार को CM नीतीश कुमार की समीक्षा बैठक के तुरंत बाद हुई क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की मीटिंग में यह फैसला लिया गया। क्राइसिस मैनेजमेंट टीम ने एजुकेशनल इंस्टीट्यूट को बंद करने के साथ में सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों पर भी रोक लगा दी है। शादी-विवाह और श्राद्ध में शामिल होने वालों की संख्या तय कर दी गई है। शादी-विवाह में अधिकतम 250 और श्राद्ध में 50 लोगों को ही शामिल होने को अनुमति रहेगी। अप्रैल के आखिर तक सभी सरकारी-निजी सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगा दी गई है। सभी DM-SP को अपने जिलों में कोरोना को लेकर केंद्र सरकार की ताजा गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने को कहा गया है। सरकारी कार्यालयों में 30 अप्रैल तक किसी भी बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। संस्थान के प्रमुख इस संबंध में अपने विवेक से निर्णय लेंग
सीवान प्रशासन ने अश्लीलता पर लिया ये अहम फैसला!

सीवान प्रशासन ने अश्लीलता पर लिया ये अहम फैसला!

अगर कोई चालक सार्वजनिक या व्यावसायिक वाहनों में अश्लील गाना बजाते पकड़ा जाएगा तो उसका परमिट रद कर दिया जाएगा। इसको लेकर राज्य परिवहन आयुक्त ने जिला परिवहन पदाधिकारी को पत्र के माध्यम से निर्देश जारी किया है। जारी निर्देश में बताया गया है कि सड़कों पर चलने वाले ऑटो, बस, ट्रक व अन्य व्यवसायिक वाहनों में अश्लील गाना बजाने पर रोक लगाई गई है। बताया जाता है कि सार्वजनिक वाहनों में अश्लील गाना नहीं बजाने व वीडियो नहीं चलाने को परमिट की शर्त में जोड़ा गया है। जिला परिवहन पदाधिकारी प्रमोद कुमार ने बताया कि व्यवसायिक वाहनों में अश्लील गाना बजाते पकड़े जाने पर प्रशासन के सहयोग से कार्रवाई करते हुए वाहन का परमिट रद करने की कार्रवाई की जाएगी। डीटीओ ने बताया कि परिवहन विभाग की तरफ से जारी पत्र में कहा गया है कि छह जुलाई 2018 को आयोजित राज्य परिवहन प्राधिकार की बैठक में पब्लिक वाहनों जैसे ऑटो, बसों
झटका: रहने लायक शहरों की टॉप 10 सूची में बिहार के एक भी शहर नहीं

झटका: रहने लायक शहरों की टॉप 10 सूची में बिहार के एक भी शहर नहीं

केंद्र सरकार के शहरी विकास मंत्रालय ने रहने लायक शहर की सूची जारी की है। शहरी विकास मंत्रालय द्वारा जारी इस इंडेक्स में टॉप 10 की सूची में बिहार का एक भी शहर शामिल नहीं हुआ है। मतलब ये कि बिहार का कोई ऐसा शहर नहीं है जो रहने के लिहाज से टॉप 10 में हो। बता दें कि रहने लायक 111 शहरों की सूची में 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहर और 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों को रैंकिंग में शामिल किया गया है। 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में बंगलुरू टॉप पर है। इस सूची में दूसरे नंबर पर पुणे, तीसरे नंबर पर अहमदाबाद है। अगर बिहार की बात करें तो 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में पटना को 33वां स्थाान मिला है। शहरी विकास मंत्रालय द्वारा जारी 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों की सूची की बात करें तो शिमला टॉप पर है। बिहार में भागलपुर 30वें और मुजफ्फरपुर 66वें स्थान पर है। आपको बता दें कि केंद्रीय
सीवान में प्रेमहाता को मिली बड़ी जीत, 106 रन से मोलनापुर को हराया

सीवान में प्रेमहाता को मिली बड़ी जीत, 106 रन से मोलनापुर को हराया

बिहार के सीवान जिले में बरहनी प्रीमियर लीग का महामुकाबला खेला गया। ये महामुकाबला प्रेमहाता और मोलनापुर के बीच हुआ है। इस दिलचस्प मुकाबले में प्रेमहाता ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 218 रन बनाए। इस लक्ष्य के जवाब में मोलनापुर की टीम सिर्फ 112 रनों पर सिमट गई। इस तरह, प्रेमहाता की टीम को 106 रनों से जीत मिली है। इस मैच के हीरो सनी रहे। सनी ने 4 ओवर में 28 रन देकर 5 विकेट झटके। इस शानदार प्रदर्शन की वजह से सनी को मैन आफ द मैच दिया गया। वहीं, मैन ऑफ द सीरीज़ का खिताब इरशाद को दिया गया है। इरशाद ने पूरी सीरीज में अपने प्रदर्शन से दर्शकों का दिल जीता है। इस क्रिकेट मैच के आयोजन में शिक्षक एस राज गुप्ता की बेहद महत्वपूर्ण भूमिका थी। गुप्ता ने कहा कि हमलोग खेल के माध्यम से भाईचारा बढ़ाते हैं और युवाओं को प्रोत्साहित भी करते हैं। हम चाहते हैं कि सीवान की धरती से ग्रामीण क्षेत्रों से युवा
पेट्रोल-डीजल का विकल्प एथेनॉल! PM मोदी के सामने नीतीश कुमार ने कही ये 4 बातें

पेट्रोल-डीजल का विकल्प एथेनॉल! PM मोदी के सामने नीतीश कुमार ने कही ये 4 बातें

नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की छठी बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से CM नीतीश कुमार के अलावा दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री सहित केंद्र शासित प्रदेशों के उप राज्यपाल, प्रशासक भी शामिल हुए। CM नीतीश कुमार ने इस बैठक के संबोधन में बिहार के हालात से अवगत कराया। CM ने इसमें कुछ अहम बिंदुओं पर फोकस किया - उद्योगों को बढावा देने का प्रयास बहुत ही जरूरी है। बिहार एक लैंडलॉक्ड स्टेट है। इसके चलते कई प्रकार की दिक्कतें होती हैं। वर्ष 2011 से ही कहा है कि उड़ीसा में एक अलग बंदरगाह की सुविधा उपलब्ध करा दी जाए तो बिहार से किसी चीज को भेजने में सहूलियत होगी। इस प्रस्ताव को हमने पिछले 10 वर्षों में कई बार रखा है। इस पर ध्यान दिया जाए तो काफी अच्छा होगा। CM ने कहा कि केंद्र सरकार के प्लांटों के माध्यम से अलग-अलग राज्यों में जो बिजली जाती है, उसका रेट भी अलग-अलग है। इसके लिए एक नीत
error: Content is protected !!