townaajtak@gmail.com

मनोरंजन

रवि किशन को क्यों मिली Y+ की सुरक्षा?

रवि किशन को क्यों मिली Y+ की सुरक्षा?

भाजपा सांसद और अभिनेता रवि किशन को बॉलीवुड-ड्रग नेक्सस लिंक के बारे में संसद में बोलने के बाद वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है। गुरुवार को एक ट्वीट में रवि किशन ने इसके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया। रवि किशन ने मुख्यमंत्री को उनके 'परिवार और उनके निर्वाचन क्षेत्र के लोगों' को सुरक्षा प्रदान करने के लिए धन्यवाद दिया और कहा कि उनकी आवाज लोगों के विचारों में गूंजती रहेगी। रवि किशन ने एक ट्वीट में कहा, आदरणीय महाराज जी, मेरी सुरक्षा के साथ वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा जो आपने मेरे लिए, मेरे परिवार और मेरे लोकसभा क्षेत्र के लोगों के लिए प्रदान की है, उसने हमें आपका ऋणी बना दिया है और इसके लिए हम आपके आभारी हैं। मेरी आवाज सदन में गूंजती रहेगी। भाजपा सांसद उस ड्रग कार्टेल के खिलाफ संसद में मानसून सत्र के दौरान बोल रहे थे जो बॉलीवुड में सक्रिय
”रिया की गिरफ्तारी से यह तो तय हो गया कि उनके ड्रग पेडलर से रिश्ते थे”

”रिया की गिरफ्तारी से यह तो तय हो गया कि उनके ड्रग पेडलर से रिश्ते थे”

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में चल रही जांच के बीच मंगलवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने उनकी पूर्व गर्लफ्रेंड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि रिया की गिरफ्तारी से यह तो तय हो गया कि उनके ड्रग पेडलर से रिश्ते थे। उन्होंने स्पष्ट कहा कि रिया के खिलाफ कोई सबूत मिला होगा, तभी तो गिरफ्तार किया गया है। रिया की गिरफ्तारी के बाद डीजीपी पांडेय ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ड्रग पेडलर्स के साथ संबंध में रिया चक्रवर्ती की पूरी तरह से पोल खुल गई है। उन्होंने कहा, "सुशांत मामले में रिया बेदाग नहीं हैं, यह तो साबित हो गया। सुशांत मामले से ही सभी मामले जुड़े हैं।" उन्होंने कहा कि जांच के विषय में उन्हें कुछ नहीं कहना। पांडेय ने कहा कि सीबीआई जांच एजेंसी है और प्रोफेशनल तरीके से काम
सोनू सूद 20 हजार मजदूरों के रहने का कर रहे हैं इंतज़ाम, रोज़गार भी दिलाएंगे

सोनू सूद 20 हजार मजदूरों के रहने का कर रहे हैं इंतज़ाम, रोज़गार भी दिलाएंगे

लॉकडाउन के बाद लोगों के रॉबिनहुड बने अभिनेता सोनू सूद ने नोएडा में बीस हजार प्रवासी श्रमिकों के रहने की व्यवस्था करने का खुलासा किया है। लॉकडाउन के दौरान प्रवासियों को उनके घर भेजने में सहायता करने को लेकर प्रशंसा पाने वाले सूद ने यह खबर इंस्टाग्राम पर साझा की है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पहल ‘प्रवासी रोजगार’ के तहत कई श्रमिकों को नोएडा के कपड़ा कारखानों में रोजगार भी दिलाया गया है बाकी कामगारों के लिए रोज़गार का इंतज़ाम किया जा रहा है। अभिनेता सोनू सूद ने इंस्टाग्राम पर लिखा, “मुझे खुशी है कि अब 20,000 प्रवासी श्रमिकों के रहने की व्यवस्था कर रहा हूं। इन श्रमिकों को प्रवासी रोजगार के तहत नोएडा के कपड़ा कारखानों में रोजगार भी दिलाया गया है। सोनू ने लिखा है कि एनएईसी अध्यक्ष ललित ठकराल की सहायता से हम सब मिलकर चौबीस घंटे प्रवासी रोजगार के लिए काम कर रहे हैं।” अभिनेता सोनू सूद ने
अब भोजपुरी एक्ट्रेस ने की आत्महत्या, मौत से पहले बनाया था वीडियो

अब भोजपुरी एक्ट्रेस ने की आत्महत्या, मौत से पहले बनाया था वीडियो

टीवी धारावाहिकों और भोजपुरी फिल्मों में काम कर चुकीं अभिनेत्री अनुपमा पाठक ने व्यक्तिगत कारणों की वजह से आत्महत्या कर ली है। जानकारी के मुताबिक घटना रविवार रात की है जब अनुपमा ने खुद को फांसी के फंदे पर लटका लिया। आत्महत्या से पहले लिखे पत्र में एक्ट्रेस ने बताया है कि वह दो कारणों से यह कदम उठा रही हैं। अनुपमा काशीमीरा पुलिस थाना क्षेत्र में ठाकुर मॉल के सामने एमएमआरटीए के एक किराए के मकान में रह रही थीं। मरने से पहले किया था फेसबुक लाइव अनुपमा ने सुसाइड से पहले फेसबुक लाइव भी किया था, जिसमें बताया कि लोगों की मौत के बाद लोग कहते है कि पहले क्यों नहीं बताया, हम मदद करते बताना चाहिए था। लोग सिर्फ बोलते हैं, लेकिन कोई मदद नहीं करता. ऐसे ही लोग सुसाइड नहीं करते। मैंने बहुत क़रीब से देखा और समझा है लोग आपकी बात को सीधा न लेकर उल्टा लेते हैं। अगर आप किसी से कहें कि सुसाइड कर सकते हैं त
मौत से कुछ घंटे पहले तक गूगल पर क्या ढूंढ रहे थे सुशांत सिंह?

मौत से कुछ घंटे पहले तक गूगल पर क्या ढूंढ रहे थे सुशांत सिंह?

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच पर अब बिहार और मुंबई पुलिस आमने-सामने आ गई है। इस मामले की जांच को लेकर पहली बार मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने मीडिया से बात की है। उन्होंने इस दौरान सुशांत की मौत से जुड़ी कुछ अहम बातें बताई है। मरने से पहले गूगल पर सर्च कर रहे थे मुंबई पुलिस कमिश्नर ने बताया कि करीब एक महीने पहले सुशांत के मोबाइल की प्राइमरी फॉरेंसिक रिपोर्ट सामने आई थी। पता चला कि उन्होंने 14 जून को सुबह करीब 10:15 बजे गूगल पर अपना नाम सर्च किया था। कुछ आर्टिकल भी पढ़े और कुछ देर बाद अपना मोबाइल ब्राउजर बंद कर दिया। इसके चंद घंटों बाद उन्होंने फांसी लगा ली। वे गूगल पर अपने नाम से आर्टिकल सर्च करते थे, ताकि पता लगा सकें कि उनके बारे में क्या लिखा जा रहा है। गूगल पर बायपोलर डिसऑर्डर, स्किजोफ्रेनिया जैसी बीमारियों को भी सर्च करते थे। मुंबई पुलिस कमिश्नर के
सुशांत सिंह केस: अचानक मुंबई क्यों पहुंचे पटना सिटी के SP विनय तिवारी?

सुशांत सिंह केस: अचानक मुंबई क्यों पहुंचे पटना सिटी के SP विनय तिवारी?

बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले का दायरा बढ़ता जा रहा है। अब इस मामले की जांच करने के लिए पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी मुंबई पहुंच गए हैं। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच को मुंबई गई बिहार पुलिस की टीम को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसी खबरें हैं कि मुंबई पुलिस बिहार पुलिस टीम को सहयोग नहीं दे रही है। यही वजह है कि पटना सिटी एसपी विनय तिवारी को भी मुंबई भेजा गया है। खबर है कि बिहार पुलिस सुशांत की मौत से पहले उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सलियन के परिवार से भी पूछताछ की तैयारी में है। पुलिस दोनों के मौत के बीच कुछ कनेक्शन तो नहीं है, यह जानने की कोशिश में है। वहीं इस मामले में बिहार पुलिस ने बताया है कि कई दिनों से सुशांत मोबाइल में जिस सिम का यूज कर रहे थे, वह उनके नाम पर नहीं थे। पुलिस के मुताबिक, उनमें से एक सिम कार्ड उनके दोस

कानूनी पचड़े में फंसी साइकिल गर्ल ज्योति पासवान!

ज्योति पासवान, नाम तो याद ही होगा। लॉकडाउन में साइकिल चलाकर पिता को घर लेकर आई थी। अब ज्योति एक बार फिर चर्चा में है। दरअसल, इस बार ज्योति के पिता को एक कानूनी नोटिस मिल गया है। क्या है मामला फिल्मकार विनोद कापड़ी ने भगीरथी फिल्‍म्‍स के बैनर तले ज्योति की कहानी पर फ़िल्म बनाने की योजना बनाई। अब इसी मामले में ज्योति के पिता मोहन पासवान को मुंबई की एक वेब सीरीज और डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माण कंपनी ने लीगल नोटिस भेजा है। कंपनी ने ज्योति के पिता पर करार तोड़ने पर आपत्ति जतायी है और कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है। जानकारी के अनुसार, इसके लिए 2 लाख 51 हजार रुपये कंपनी ने देने का अनुबंध हस्ताक्षर किए गए थे, और पहली किस्त 51 हजार रुपये खाते में भेज दिए गए थे. साथ ही शुरुआती कागजात पर दस्तखत कर फिल्म बनाने का अधिकार ज्योति के पिता मोहन पासवान ने विनोद कापड़ी को दिया था। बता दें कि
परवीन बॉबी से सुशांत सिंह तक, पैटर्न एक ही है…

परवीन बॉबी से सुशांत सिंह तक, पैटर्न एक ही है…

मुझे यहां सब कुछ चांदी की प्लेट में सजा हुआ मिला, मगर सबके साथ ऐसा नहीं है.. परवीन मेरी डार्लिंग है, उसे जबर्दस्त शोषण से गुजरना पड़ा.. भावुक हेमा मालिनी ने ये बातें तब कही जब परवीन बॉबी अचानक देश छोड़कर चली गई थीं. ये वही वक्‍त था जब परवीन बॉबी का करियर चरम पर था. परवीन बॉबी वो सबकुछ कर रही थीं, जो अपनी चाहत, आधुनिकता और आत्मनिर्भरता के नाम पर महिलाएं आज करना चाहती हैं. लेकिन मिडिल क्‍लास परिवार की लड़की परवीन बॉबी के अंदर इतना खोखलानपन था कि खुद को अकेला महसूस करती थीं. परवीन बॉबी ने अपने अकेलेपन के बारे में कई बार खुलकर बात की थी. उन्‍होंने 'द इलस्ट्रेटेड वीकली ऑफ इंडिया' में अपना एक संस्मरण लिखा था - " मैं ये जान गई हूं कि यहां बने रहने का अपना संघर्ष है, इसके अपने दबाव और चुनौतियां हैं. मैं इसमें इतनी धंस चुकी हूं कि मुझे अब इसे झेलना ही होगा." एक वक्‍त ऐसा भी आया जब वह मानिसक बीम
बिहार का हीरो बेटा सुशांत सिंह राजपूत अब यादों में…

बिहार का हीरो बेटा सुशांत सिंह राजपूत अब यादों में…

कोसी के सपूत चर्चित फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली है। बिहार के पूर्णिया के निवासी सुशांत ने मुंबई स्थित बांद्रा में अपने घर में आत्महत्या की। सुशांत सिंह राजपूत ने 'किस देश में है मेरा दिल' नाम के डेली सोप में काम किया पर उनको पहचान एकता कपूर के धारावाहिक 'पवित्र रिश्ता' से मिली। इसके बाद सुशांत को फिल्में भी मिलने लगीं। 'काय पो छे!' में सुशांत मुख्य अभिनेता थे और उनके अभिनय की काफी तारीफ भी हुई थी। इसके बाद सुशांत 'शुद्ध देसी रोमांस' में वाणी कपूर और परिणीति चोपड़ा के साथ दिखे थे। सुशांत सिंह राजपूत ने क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक में भी उनका किरदार निभाया था। मिली जानकारी के अनुसार सुशांत के घर में काम करने वाले एक शख्स ने पुलिस को फोन कर के इसकी जानकारी दी। सुशांत ने एक के बाद एक तेजी से कई फिल्में साइन कर ली थीं लेकिन उनकी कई फिल्में या तो रिलीज में देरी
रिंकिया के पापा….के म्‍यूजिक डायरेक्‍टर धनंजय मिश्रा का निधन, जानें-भोजपुरी इंडस्‍ट्री ने क्‍या कहा

रिंकिया के पापा….के म्‍यूजिक डायरेक्‍टर धनंजय मिश्रा का निधन, जानें-भोजपुरी इंडस्‍ट्री ने क्‍या कहा

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के लिए साल 2020 काफी मुश्किल भरा रहा है और ये मुश्किलें अभी भी खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. फिल्म इंडस्ट्री से एक के बाद एक दुखद खबरें आने का सिलसिला थम ही नहीं रहा है. आज बॉलीवुड के डायरेक्टर बासु चटर्जी के निधन की खबर आई थी. इस खबर को आने अभी ज्यादा समय भी नहीं बिता है कि अब भोजपुरी इंडस्ट्री से भी एक बुरी खबर आ गई है. भोजपुरी सिनेमा के मेगास्टार मनोज तिवारी के लोकप्रिय गाने 'रिंकिया के पापा सहित उनकी कई एलबम्स और फिल्मों में म्यूजिक देने वाले मशहूर भोजपुरी म्यूजिक डायरेक्टर धनंजय मिश्रा का निधन हो गया है. धनंजय मिश्रा के यूं चले जाने से पूरी भोजपुरी इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ गई है. उनके निधन पर भोजपुरी स्टार निरहुआ और खेसारी लाल यादव ने गहरा दुख जताया है. निरहुआ ने ट्वीट कर लिखा, 'भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के हम सब के चहेते संगीतकार धनंजय मिश्रा जी के
error: Content is protected !!