townaajtak@gmail.com

जॉब्‍स

कोरोना के बीच सीवान समेत बिहारभर में कल से खुलेंगे स्कूल, जानिए क्या है नया नियम

कोरोना के बीच सीवान समेत बिहारभर में कल से खुलेंगे स्कूल, जानिए क्या है नया नियम

कोरोना का दौर अभी बरकरार है। इस बीच, बिहार में सोमवार से सभी 9वीं से 12 वीं तक के स्कूल खुल जाएंगे। कोरोना प्रोटोकॉल व सरकार के गाइड लाइन के अनुसार ही स्कूल का संचालन होगा। नए नियमों के मुताबिक एक दिन में सिर्फ 50 फीसद बच्चों की उपस्थिति होगी। हालांकि, शिक्षकों की उपस्थिति शत-प्रतिशत होगी। पठन-पाठन से लेकर परिवहन तक में सभी नियमों का पालन करना होगा। सरकार के निर्देशों का अनुपालन सख्ती से कराया जाएगा। सभी स्कूल पर विभाग के अधिकारियों की कड़ी निगरानी होगी। सीवान की क्या है तैयारी: सीवान जिला शिक्षा पदाधिकारी मोतीउर रहमान ने बताया कि 2 जनवरी को बैठक कर सभी स्कूल-कोचिग संचालकों को सरकार से जारी निर्देशों से अवगत करा दिया गया था। स्कूल खोलने के पूर्व क्लास रूम से लेकर प्रयोगशाला तक को सैनिटाइज कराने का आदेश दिया गया था। स्कूल आने वाले छात्रों को थर्मल स्क्रीनिग से गुजरना होगा। सभी छात्रों
UPSC की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए खुशखबरी, IAS विपुल खन्‍ना ने लॉन्च किया वीडियो बुक

UPSC की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए खुशखबरी, IAS विपुल खन्‍ना ने लॉन्च किया वीडियो बुक

2019 की यूपीएससी सिविल सर्विसेज में 129 वीं रैंक हासिल कर कीर्तिमान रचने वाले आईएएस विपुल खन्‍ना ने सिविल सेवा की तैयारी कर रहे युवाओं की राह आसान करने के लिए वीडियो बुक लॉन्‍च की है। बैंगलोर स्थित एडटेक कंपनी, वंडरस्लेट ने इस वीडियो बुक को तैयार किया है। प्रीलिम्स स्ट्रेटजी से लेकर मेंस में सब्जेक्ट के चुनाव तक, आंसर राइटिंग की तकनीकों से लेकर नोट्स बनाने के विभिन्न तरीकों को यह वीडियो समझाने में मदद करेगी। बुक के भीतर विभिन्न शार्ट वीडियोत में विभाजित है, यूपीएससी परीक्षा के सभी चरणों से जुड़े विभिन्न प्रश्नों को संबोधित करती है। किताब के बारे में विपुल खन्ना बताते हैं, “यह पुस्तक न सिर्फ मेरी सफलता को दर्शाती है, बल्कि उन सभी असफल प्रयासों से सीखने का मौका देती है जिनसे सीख कर मुझे सफलता मिली। मैंने अपने आखिरी प्रयास में यूपीएससी क्लियर किया। मैंने इन सभी वर्षों की तैयारी से जो कुछ भी
क्या 2 महीने में 10 लाख लोगों को नौकरी दे पाएंगे तेजस्वी

क्या 2 महीने में 10 लाख लोगों को नौकरी दे पाएंगे तेजस्वी

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकार को बेरोजगारी के मुद्दे पर घेरते हुए वादा किया कि अगर बिहार के लोग उनकी पार्टी को मौका देते है, तब सरकार बनने के दो महीने के अंदर 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी दी जाएगी। पटना में राजद प्रदेश कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि हमारी सरकार बनी तो कैबिनेट की पहली बैठक में 10 लाख युवाओं को रोजगार देने का फैसला किया जाएगा। उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि बिहार में 50 हजार पुलिसकर्मियों के पद रिक्त है, जिस पर भर्ती की जाएगी। उन्होंने बताया कि बिहार में एक लाख आबादी पर 77 पुलिसकर्मी हैं जबकि राष्ट्रीय औसत 144 पुलिसकर्मियों का है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में भी बिहार में 1 लाख 25 हजार चिकित्सकों की जबकि कुल मिलाक
राजद के पोर्टल पर 5 लाख से ज्यादा बेरोजगारों ने मांगी नौकरी

राजद के पोर्टल पर 5 लाख से ज्यादा बेरोजगारों ने मांगी नौकरी

बिहार में हाल ही में तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी हटाओ नाम से एक पोर्टल शुरू किया था, जिसमें बेरोजगार नौजवान अपना बायोडाटा डाल सकते हैं। अब आरजेडी का यह दावा है कि इस पोर्टल पर 9 दिन में 5 लाख से ज्यादा बिहार के बेरोजगार युवक अपना डिटेल्स डाल चुके हैं। यह संख्या धीरे धीरे आगे बढ़ रही है। आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी का कहना है कि पिछले 9 दिनों में 'बेरोजगारी हटाओ' पोर्टल पर 5 लाख से ज्यादा नौजवानों ने खुद को रजिस्टर किया है। ये सिर्फ 9 दिन का आकड़ा है, अभी एक महीने बाद चुनाव है। बता दें कि बिहार में बेरोजगारी हटाओ पोर्टल को लेकर सियासत भी शुरू हो गई है। साथ ही आरोप-प्रत्यारोपों का दौर भी चल रहा है। इस बीच, बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद का कहना है कि तेजस्वी यादव कितना तक पढ़े हैं कि बेरोजगारी की बात कर रहे हैं। क्या वो खुद को इस पोर्टल पर रजिस्टर किया है और क्या कभी जानने की कोशिश की
UPSC परीक्षा में मुसलमानों को अधिक मौक़े मिलते हैं?– जानें इस दावे का सच

UPSC परीक्षा में मुसलमानों को अधिक मौक़े मिलते हैं?– जानें इस दावे का सच

देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा मानी जाने वाली सिविल सर्विसेज़ से जुड़े कई ट्वीट आपने हाल के दिनों में देखे होंगे। संघ लोक सेवा आयोग यानी UPSC के ज़रिए आयोजित होने वाली इन परीक्षाओं को लेकर एक तबका सोशल मीडिया पर सवाल उठा रहा है। 'UPSC जिहाद' हैशटैग से कई ट्वीट काफ़ी समय से ट्रेंड हो रहे हैं और इन ट्वीट्स में मुसलमान उम्मीदवारों के लिए अलग मापदंडों का उल्लेख किया गया है। इनमें से कुछ इस प्रकार हैं, "UPSC में हिंदुओं के लिए 6 मौक़े तो वहीं मुसलमानों के लिए 9 मौक़े", "यूपीएससी में हिंदू के लिए अधिकतम उम्र 32 साल तो वहीं मुसलमानों के लिए अधिकतम उम्र 35 साल।" इसके अलावा इन ट्वीट्स में उर्दू माध्यम से दी जाने वाली परीक्षा की सफलता दर, मुसलमानों के लिए चलाए जाने वाली कोचिंग सेंटर आदि पर भी सवाल उठाए गए हैं।इन सबसे पहले सोशल मीडिया पर UPSC परीक्षा में 'इस्लामिक स्टडीज़' विषय भी काफ़ी ट्रेंड हो
तेजस्वी यादव हटाएंगे बिहार से बेरोजगारी, ये टोल फ्री नंबर किया जारी

तेजस्वी यादव हटाएंगे बिहार से बेरोजगारी, ये टोल फ्री नंबर किया जारी

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने शनिवार को चुनाव से पूर्व बेरोजगारों को रिझाने की कोशिश की है। उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि अगर सरकार बनी तो मेगा ड्राइव चलाकर सभी बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी। तेजस्वी ने बेरोजगारों के पंजीयन के लिए 'बेरोजगारी हटाओ' नाम से एक वेबपोर्टल और एक टॉल फ्री नंबर भी जारी किया। वेबसाइट —www.berozgarihatao.co.in टोल फ्री नंबर— 9334302020 राजद नेता ने पटना में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अरोप लगाया कि पिछले 15 वर्षो में नीतीश कुमार अपने राजनीतिक रोजगार के चक्कर में बिहार के करोड़ों नौजवानों को बेरोजगार बनाते गए। उन्होंने कहा, "आज देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी जो की 46़6 प्रतिशत है वो बिहार में है। सबसे ज्यादा रोजगार के लिए राज्य से बाहर पलायन बिहार में है, सबसे अधिक गरीबी बिहार में है, यहां आधे
बिहार STET परीक्षा पर हाईकोर्ट का फैसला सुरक्षित, छात्रों में कन्फ्यूजन

बिहार STET परीक्षा पर हाईकोर्ट का फैसला सुरक्षित, छात्रों में कन्फ्यूजन

पटना हाईकोर्ट ने साल 2019 के राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी ) को लेकर फैसला सुरक्षित रखा है। हाईकोर्ट ने 16 मई को रद्द किये जाने के आदेश के खिलाफ दायर हुई रिट याचिकाओं पर सुनवाई पूरी करते हुए अपना फैसला सुरक्षित कर लिया है। कोर्ट के फैसला सुरक्षित रखने से छात्रों में कन्फ्यूजन है। दरअसल, ऐसी उम्मीद की जा रही थी कि कोर्ट तुरंत फैसला सुना देगा लेकिन फिलहाल ऐसा नहीं हुआ है। इस बीच, बिहार माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी) 2019 पुनर्परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी कर दिए गए हैं। बिहार बोर्ड वेबसाइट www.bsebstet2019.in और biharboardonline.gov.in पर जाकर इसे डाउनलोड किया जा सकता है। प्रवेश पत्र डाउनलोड करने के लिए अभ्यर्थी को अपना एप्लीकेशन नंबर और डेट ऑफ बर्थ डालना होगा। परीक्षा 9 सितंबर से 21 सितंबर के बीच बिहार राज्य के पटना, भोजपुर, नालन्दा, गया, छपरा, वैशाली, मुजफ्फरपुर, और
बिहार: फिर से होगी STET की परीक्षा, 9 से 21 सितंबर के बीच आयोजित

बिहार: फिर से होगी STET की परीक्षा, 9 से 21 सितंबर के बीच आयोजित

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी) 2019 की पुनर्परीक्षा की तिथि जारी कर दी है। एसटीईटी की पुनर्परीक्षा 9 से 21 सितंबर के बीच आयोजित की जाएगी। पुनर्परीक्षा ऑनलाइन होगी। परीक्षा नौ दिनों तक आयोजित होगी। 9, 10, 11, 14, 15, 16, 17, 18 और 21 सितंबर को अलग-अलग विषयों की अलग-अलग पाली में परीक्षा आयोजित होगी।  बोर्ड ने कहा है कि परीक्षा की तिथि, समय, केंद्र का नाम, परीक्षा का विषय आदि सभी जानकारी एडमिट कार्ड पर अंकित रहेगा। एडमिट कार्ड परीक्षा शुरू होने के दो सप्ताह पहले यानि 25 अगस्त को एडमिट कार्ड जारी कर दिया जाएगा। यह परीक्षा बिहार स्टेट इलेक्ट्रॉनिक्स डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बेल्ट्रॉन) के माध्यम से ली जाएगी। परीक्षा की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है। इसकी जानकारी सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी, अभ्यर्थी और उनके अभिभावकों को दी गई ह
2 लाख छात्रों की बल्ले-बल्ले: बिहार बोर्ड का फैसला, मैट्रिक-इंटर के फेल छात्र होंगे अब पास

2 लाख छात्रों की बल्ले-बल्ले: बिहार बोर्ड का फैसला, मैट्रिक-इंटर के फेल छात्र होंगे अब पास

बिहार सरकार ने कोरोना महामारी के चलते मैट्रिक और इण्टरमीडिएट परीक्षा में एक या दो विषयों में फेल छात्रों को एक्स्ट्रा नंबर का ग्रेस देकर पास करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। ऐसे छात्र करीब 2 लाख हैं।   बिहार बोर्ड मैट्रिक 2020 रिजल्ट में कुल 80.59 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए हैं। इनमें से 4,03,392 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में, 524217 सेकेंड डिवीजन से और 2,75,402 थर्ड डिवीजन से पास हुए हैं। परीक्षा में 96.20 फीसदी मार्क्स के साथ हिमांशु राज ने टॉप किया कुल 15 लाख 29 हजार 393 परीक्षार्थियों ने फार्म भरा था। इनमें सात लाख 83 हजार 034 छात्राएं और सात लाख 46 हजार 359 छात्र शामिल थे। वहीं, बिहार बोर्ड इंटर रिजल्ट की बात करें, तो 24 मार्च को जारी किए गए इंटरमीडिएट में 80.44 प्रतिशत विद्यार्थी परीक्षा सफल रहे हैं। पिछले साल 79.76 प्रतिशत विद्यार्थी इंटरमीडिएट परीक्षा में बाजी मारी थ
error: Content is protected !!