townaajtak@gmail.com

शहाबुद्दीन ने मांगा कस्टडी पैरोल तो कोर्ट ने कहा-घर वालों को ही दिल्ली बुला लीजिए

सीवान के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन को लेकर यह बड़ी खबर है। दिल्‍ली की तिहाड़ जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे शहाबुद्दीन ने दिल्‍ली हाईकोर्ट में याचिका दायर कर सिवान जाने के लिए ‘कस्टडी पैरोल’ मांगी है। शहाबुद्दीन ने अपनी याचिका में कहा है कि उनके पिता का बीते 19 सितंबर को निधन हो गया और उनकी मां बीमार हैं। अब इस पर कोर्ट ने कहा है कि आप घर वालों को ही दिल्ली बुला लीजिए और मिल लीजिए। दरअसल, शहाबुद्दीन की याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली व बिहार सरकार ने कस्‍टडी पैरोल में सुरक्षा का आश्वासन नहीं दिया। इसपर कोर्ट ने शहाबुद्दीन के परिवार को ही दिल्‍ली आकर मिलने का सुझाव दिया।

दिल्ली सरकार ने क्या कहा
मंगलवार काे जस्टिस एजे भंभानी की कोर्ट में सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार की तरफ से वकील संजय लाव ने कोर्ट से कहा कि बिहार में शहाबुद्दीन की सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस जिम्मेदार नहीं हो सकती है। शहाबुद्दीन को कोरोना काल में सिवान ले जाना भी मुश्किल है। फिलहाल ट्रेनों का परिचालन समान्‍य नहीं है। शहाबुद्दीन के साथ जाने पुलिस की एक पूरी बटालियन भी भेजनी होगी। बिहार सरकार के वकील केशव मोहन ने भी कहा कि शहाबुद्दीन तिहाड़ जेल में हैं इसलिए उनकी सुरक्षा दिल्ली सरकार व पु‍लिस को सुनिश्चित करनी चाहिए। उन्‍होंने यह भी कहा कि कस्‍टडी पैरोल की स्थिति में जरूरी ब्‍योरा नए हलफनामे में दिया जाएगा।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!