townaajtak@gmail.com

सीवान की जानलेवा सड़क, तीन साल में 555 लोगों की हो चुकी है मौत

सरपट सड़कों पर काल बनकर नाच रही मौत ने पिछले तीन वर्षों में जिले के 555 लोगों को अपने आगोश में ले लिया। इतने ही लोग गंभीर रूप से घायल हो कर या तो दिव्यांग हो गए या नहीं तो इलाजरत हैं। सड़क दुर्घटनाओं में लगातार हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए जिलाधिकारी सह सड़क सुरक्षा समिति के अध्यक्ष अमित कुमार पांडेय ने सख्त कदम उठाया है। शनिवार को बैठक कर उन्होंने शहरी क्षेत्र में प्रतिदिन वाहनों की जांच का निर्देश दिया है। लापरवाही बरतने वालों पर सख्ती से निपटने को भी कहा गया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017 से अबतक कुल 555 लोगों की मौत तथा 531 लोग घायल हुए हैं।

इनमें 2017 में सड़क दुर्घटना में 168 लोगों की मौत तथा 191 लोग घायल हुए थे। वहीं 2018 में 157 लोगों की मौत व 164 लोग घायल, 2019 में 170 लोगों की मौत व 128 लोग घायल तथा इस वर्ष जून माह तक 60 लोगों की मौत व 40 लोग घायल हुए हैं। डीएम द्वारा आंकड़ों का विश्लेषण करते हुए यह निर्देशित किया कि सड़क दुर्घटना में कमी लाने हेतु सतर्कता व जागरूकता लाने की आवश्यकता है। साथ ही अगली बैठक में जुलाई माह से सितंबर माह तक के डाटा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। इसको लेकर उन्होंने वाहनों की सघन जांच हेतु अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं सभी थानाध्यक्षों द्वारा नगर क्षेत्रों में प्रतिदिन भिन्न-भिन्न स्थानों पर वाहनों की सघन जांच करने का आदेश दिया। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी विशेषकर सीट बेल्ट व हेलमेट की जांच करने का निर्देश दिया।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!