townaajtak@gmail.com

Month: August 2020

ब्राह्मणों के बंदूक लाइसेंस पर योगी सरकार ने मांगी जानकारी

ब्राह्मणों के बंदूक लाइसेंस पर योगी सरकार ने मांगी जानकारी

बीजेपी के एक विधायक ने उत्तर प्रदेश विधानसभा से ब्राह्मण जाति के लोगों के 'मारे जाने', उनकी असुरक्षा और बंदूक के लाइसेंस के आँकड़ों को लेकर एक सवाल पूछा था. इसके जवाब में उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी ज़िलों के डीएम को एक 'असमान्य' पत्र लिखा और पूछा है कि कितनी संख्या में ब्राह्मणों ने हथियारों के लाइसेंस के लिए आवेदन किए हैं. इंडियन एक्सप्रेस अख़बार के अनुसार डीएम को लिखे पत्रों पर राज्य सरकार के गृह विभाग के अवर सचिव प्रकाश चंद्र अग्रवाल के हस्ताक्षर हैं. ये पत्र 18 अगस्त को भेजे गए थे और इन पर 21 अगस्त तक विस्तार में जवाब में मांगा था. अख़बार का कहना है कि अग्रवाल ने इस पर कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है. इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार उससे एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि इसे लेकर सरकार फिर बहुत सक्रिय नहीं रही और क़दम पीछे खींच लिए. हालांकि एक ज़िले के डीएम ने पत्र की मांग के
सीवान: क्या नेतागिरी चमकाने की गारंटी बन गए हैं ओमप्रकाश यादव?

सीवान: क्या नेतागिरी चमकाने की गारंटी बन गए हैं ओमप्रकाश यादव?

लेखक—सुधीर कुमार बीते कुछ दिनों से सीवान के बीजेपी नेता रहे स्वर्गीय श्रीकांत भारतीय के बेटे सत्यम की चर्चा हो रही है। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान सत्यम भारतीय ने चुनावी महत्वकांक्षा से लबालब बयान दिया है। इस बयान में वह साफतौर पर विधानसभा चुनाव लड़ने और सुर्खियां बटोरने के जुगाड़ में दिख रहे हैं। सुर्खियां बटोरने के लिए उन्होंने सीवान के पूर्व बीजेपी सांसद ओमप्रकाश यादव को इशारों में हमला बोला है। ये पहली बार नहीं है जब सीवान में कोई शख्स अपनी सियासत को चमकाने और मीडिया में सुर्खियां बटोरने के लिए ओमप्रकाश यादव पर हमला बोल रहा है। इससे पहले सीवान बीजेपी के कई नेताओं ने ओमप्रकाश यादव के जरिए अपनी राजनीति चमकाई है। टुन्ना पांडे सीवान में बीजेपी के एमएलसी रहे टुन्ना पांडे पहले छेड़छाड़ के आरोप और गिरफ्तारी की वजह से चर्चा में रहते थे लेकिन साल 2018 से उनकी पहचान बदलने लगी। साल
भारत और चीन की सेना में फिर झड़प, सरकार ने जारी किया बयान

भारत और चीन की सेना में फिर झड़प, सरकार ने जारी किया बयान

भारत और चीन के सैनिकों के बीच एक बार फिर बॉर्डर पर झड़प हुई है। भारत सरकार ने सोमवार को कहा कि चीन सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में सीमा पर बनी सहमति का उल्लंघन किया है। सरकार ने कहा है कि चीनी सैनिकों ने उकसाऊ क़दम उठाते हुए सरहद पर यथास्थिति बदलने की कोशिश की लेकिन भारतीय सैनिकों ने उन्हें रोक दिया। i भारतीय सेना के बयान को पीआईबी की ओर से जारी किया गया है। बयान के अनुसार, ''भारतीय सैनिकों ने पंन्गोंग त्सो लेक में चीनी सैनिकों के उकसाऊ क़दम को रोक दिया है। भारतीय सेना संवाद के ज़रिए शांति बहाल करने का पक्षधर है लेकिन इसके साथ ही अपने इलाक़े की अखंडता की सुरक्षा के लिए भी प्रतिबद्ध है. पूरे विवाद पर ब्रिगेड कमांडर स्तर पर बैठक जारी है।''
सीवान: दलित हत्याकांड में करीब 10 महीने बाद गिरफ्तारी

सीवान: दलित हत्याकांड में करीब 10 महीने बाद गिरफ्तारी

बीते साल दिवाली की बात है, महादेवा ओपी क्षेत्र के आकोपुर गांव में एक दलित शंभू मांझी की हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में पुलिस को करीब 10 महीने बाद एक अहम सफलता मिली है। दरअसल, शंभू मांझी हत्याकांड में फरार अपराधी को नगर थाना, एसआइटी व महादेवा ओपी पुलिस ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर चकिया गांव से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अपराधी महादेवा थाना क्षेत्र के चकिया गांव निवासी रॉबिन कुमार है। खबर के मुताबिक महादेवा ओपी एसआइ तनवीर आलम ने बताया कि गुप्ता सूचना के आधार पर फरार अपराधी रॉबिन को चकिया से गिरफ्तार किया गया हैं। बताया कि पूर्व के एक हत्या मामले में रिमांड होम छपरा से ये फरार था। वहीं पूर्व के कई मामलों में ये आरोपित हैं। जिसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही थी।
सदर अस्पताल की सुध क्यों नहीं लेते विधायक व्यासदेव प्रसाद?

सदर अस्पताल की सुध क्यों नहीं लेते विधायक व्यासदेव प्रसाद?

अगर आप सीवान के रहने वाले हैं तो आपको सदर अस्पताल की हकीकत के बारे में बखूबी पता होगा। सीवान का सदर अस्पताल किन चुनौतियों और क​मियों से जूझ रहा है, इसकी खबरें हर दूसरे दिन आती रहती हैं लेकिन आश्चर्य इस बात की है कि सीवान सदर के विधायक व्यासदेव प्रसाद इन से बेफिक्र नजर आते हैं। दिलचस्प बात ये है कि सदर अस्पताल से व्यासदेव प्रसाद के घर की दूरी 1 किलोमीटिर से भी कम है। आपको यहां बता दें कि व्यासदेव प्रसाद तीसरी बार सदर के विधायक हैं। एक तथ्य ये भी है कि सीवान के ही मंगल पांडे अभी राज्य के स्वाथ्य मंत्री हैं। एक साल से अल्ट्रासाउंड बंद सदर अस्पताल में एक साल से अल्ट्रासाउंड बंद है। इसके बावजूद स्वास्थ्य विभाग का इसको चालू करने के लिए कोई पहल नहीं की जा रही है। इसके चलते मरीजों को निजी जांच घर में अल्ट्रासाउंड के लिए जाना पड़ता है। अगर यहां इसकी व्यवस्था होती तो उनको कोई राशि नहीं खर्च करनी
सीवान: दरौली का डाकघर जहां 3 महीने से कोई काम नहीं हुआ

सीवान: दरौली का डाकघर जहां 3 महीने से कोई काम नहीं हुआ

रिपोर्ट— मुक्तिनाथ पांडे सीवान जिले के दरौली बाजार के उपडाकघर विगत तीन माह से कार्य ठप है। बीते दिनों सीवान के डाक अधीक्षक ने इस समस्या को ध्यान में रखकर दौरा ​भी किया। इस दौरान ग्रामीणों ने डाकघर के सुचारू रूप से चलाए जाने की मांग की। आपको बता दें कि इस डाकघर में रेकरिंग, आरडी, केवीपी, एनएसी, सुकन्या सहित सभी तरह का लेन-देन ठप हो जाता है। प्रतिदिन सैकड़ों उपभोक्ता डाकघर में रुपए जमा निकासी, सुकन्या योजना और आरडी खाता में रुपए जमा करने आते हैं, लेकिन पिछले तीन माह से इंटरनेट नहीं रहने पर उपभोक्ताओं का कोई कार्य नहीं हो पा रहा है। उपभोक्ताओं का काम नहीं होने से हर रोज पोस्ट आफिस के कर्मियों से तू-तू-मैं-मैं, गाली-गलौज हो रही है। कभी-कभी तो मारपीट की भी नौबत आ जा रही है। एक तरफ सरकार कोरोना महामारी में लोगों को सुविधा उपलब्ध करा रही है। वहीं दूसरी तरफ लोगों का जमा रुपए उन्हें नहीं
कौन है IPS सुनील कुमार, जो अब जेडीयू में शामिल हो गए

कौन है IPS सुनील कुमार, जो अब जेडीयू में शामिल हो गए

पूर्व आईपीएस अधिकारी सुनील कुमार ने शनिवार को राजनीति में कदम रखते हुए जनता दल (यूनाइटेड) का दामन थाम लिया। बिहार में अपर पुलिस महानिदेशक रहे कुमार को सांसद ललन सिंह ने जदयू की सदस्यता दिलाई। इसके अलावे राजद के नेता हर्षवर्धन ने भी जदयू का दामन थाम लिया। जदयू के प्रदेश कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में जदयू के संसदीय दल के नेता ललन सिंह ने कहा, "राजद में भगदड़ मची है, 'बैरियर' खोल देंगे, तो पार्टी खत्म हो जाएगी। कब कौन आएगा, इसका इंतजार है।" तेजस्वी यादव द्वारा बाढ़ और कोरोना के मामले में सरकार पर आरोप लगाने के संबंध में पूछे जाने पर ललन सिंह ने कहा, "अभी चुनाव का समय है, इसलिए बाढ़, कोरोना की बात की जा रही है। टिकट भी बांटना है, 'माल पत्र' बनाने का समय है। अगर बोलेंगे नहीं, तो टिकटार्थी कैसे आएंगे। टिकट बांट लेने दीजिये, फिर देखिये, चुनाव में क्या होगा, ये वो भी जानते हैं।"
बिहार के वार्ड पार्षद से मुखिया तक को रिझाने में जुटे नीतीश कुमार!

बिहार के वार्ड पार्षद से मुखिया तक को रिझाने में जुटे नीतीश कुमार!

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ग्राम पंचायत के मुखियाओं को 'सरकार' बताते हुए कहा कि हम लोगों ने विकेंद्रीत तरीके से काम किया है, जिससे पंचायत से लेकर नगर निकाय तक में काम बेहतर तरीके से हो पाया। उन्होंने कहा कि अब हर वार्ड पार्षद, मुखिया सभी की कद्र बढ़ गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को पंचायती राज विभाग, नगर विकास एवं आवास विभाग, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा संयुक्त रुप से आयोजित 'हर घर नल का जल' निश्चय एवं 'हर घर तक पक्की गली-नालियां' निश्चय अंतर्गत विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन एवं लोकार्पण कार्यक्रम में प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 'हर घर नल का जल' निश्चय एवं 'हर घर तक पक्की गली-नाली' का निर्माण कार्य तेजी से पूरा होने का कारण कार्यों को विकेंद्रीकरण तरीके से कराया जाना है। उन्होंने कहा, "इन कायरे में मुखिया जी के साथ-साथ वार्ड सदस्यों ने महत
सीवान: महाराजगंज नगर पंचायत में हाथापाई, थाने तक पहुंचा मामला

सीवान: महाराजगंज नगर पंचायत में हाथापाई, थाने तक पहुंचा मामला

महाराजगंज नगर पंचायत की अध्यक्ष मंजू देवी व नगर पंचायत के इओ अरविंद कुमार सिंह के बीच शुक्रवार को तीखी झड़प के साथ हाथापाई हो गई। दोनों के बीच हुई हाथापाई के बाद कार्यालय में अफरातफरी का माहौल बन गया। दोनों ने एक दूसरे पर कई गम्भीर आरोप लगाया। घटना के बाद दोनों पक्ष थाने पहुंचे और एफआईआर दर्ज करने के लिए आवेदन दिया। नपं अध्यक्ष मंजू देवी ने आवेदन में कहा कि नगर पंचायत क्षेत्र में नल जल योजना और गली नाली योजना का उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से मुख्यमंत्री द्वारा किया जाना था। इसे लेकर वह कार्यालय पहुंची थी। उनके कार्यालय पहुंचने पर इओ अपने कर्मी के साथ कार्यालय से निकल गए। जब वे लौटे तो उन्होंने पूछा कि वे कहां गए थे। यह सुनते ही इओ उनके साथ अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे। अभद्र भाषा का प्रयोग करने से मना करने पर उनके साथ हाथापाई की गई। इओ के साथ उनका एक कर्मी भी शामिल था। जब अध्यक
सीवान सदर अस्पताल में इन मरीजों को मिलेगी नई सुविधा

सीवान सदर अस्पताल में इन मरीजों को मिलेगी नई सुविधा

सीवान सदर अस्पताल में जल्द ही एचआइवी पीड़ितों के इलाज के लिए एंटी रेट्रो वायरल थेरेपी (एआरटी) सेंटर खोला जाएगा। इसको लेकर विभाग ने कवायद भी शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार 15 सितंबर तक एआरटी सेंटर काम करना शुरू कर देगा। यह सेंटर अस्पताल परिसर स्थित ब्लड बैंक के भवन में बनेगा। इसके खुलने से एचआइवी पॉजिटिव मरीजों को इलाज व दवा लेने के लिए किसी दूसरे स्थान पर नहीं जाना पड़ेगा। आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों को इससे निजात मिलेगी। सिविल सर्जन डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा ने बताया कि करीब एक साल पूर्व नेशनल एड्स कंट्रोल सोसायटी की टीम ने स्थल निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए थे। अभी जिले में एआरटी सेंटर नहीं होने के कारण मरीजों को पटना या अन्य बड़े शहरों में जाना पड़ता है। इस एआरटी सेंटर में सीडी फोर सहित अन्य उपकरण लगाए जाएंगे। सीडी फोर लगाने का मुख्य उद्देश्य मरीज की बीमारी किस परिस्थिति में है, उसका
error: Content is protected !!