townaajtak@gmail.com

Month: May 2020

1 जून से बिहार में क्‍या खुलेगा और क्‍या बंद रहेगा, यहां जानिए

1 जून से बिहार में क्‍या खुलेगा और क्‍या बंद रहेगा, यहां जानिए

कोरोना संक्रमण के बीच बिहार में 8 जून से कई आर्थिक और सामाजिक गतिविधियां शुरू होंगी। लॉकडाउन-4 की समाप्ती के आखिरी दिन गृह विभाग ने केन्द्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को बिहार में हू-ब-हू लागू करने का आदेश जारी कर दिया। लॉक डाउन को सिर्फ कंटेनमेंट जोन तक सीमित कर दिया गया है। बाकी जगहों पर मॉल, होटल और रेस्टोरेंट खुलेंगे। पूजा-पाठ भी होगी। हालांकि शिक्षण संस्थानों को खोलने का निर्णय जुलाई में होगा। गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने केन्द्र के गाइडलाइन को लागू करने का आदेश रविवार को जारी कर दिया। गृह मंत्रालय ने लॉक डाउन 4 की समाप्ती के पहले नई गाइडलाइन जारी की थी। इसके तहत राज्य के अंदर या बाहर आनेजाने के लिए पास की बाध्यता नहीं रहेगी। पहले इसके लिए ई पास लेना अनिवार्य था। हालांकि रात के 9 बजे से सुबह के 5 बजे तक कफ्र्यू जारी रहेगा। इस दौरान आम लोगों की आवाजाही पर रो
किसानों के हित में भारतीय जनमंच ने की ये पहल

किसानों के हित में भारतीय जनमंच ने की ये पहल

ये रिपोर्ट दरौली से टाउन आजतक के पत्रकार मुक्‍तिनाथ पांडे ने भेजी है.. बिहार के सीवान जिले के दरौली में भारतीय जनमंच की ओर से एक खास पहल की गई है। दरौली में गैर राजनीतिक भारतीय जनमंच के अध्‍यक्ष सुरेंद्र पांडे समेत अन्‍य कई लोगों ने सीओ से मुलाकात की है। इस मुलाकात के दौरान दरौली-गोपालपुर बांध में वनी पुलिया में सुईस गेट लगाने की मांग की गई है। इसके लिए एक ज्ञापन भी सौंपा गया है। ज्ञापन में लिखा गया है कि सुईस गेट नहीं होने की वजह से जलाशय का पानी गोपालपुर, हथौरी, परमानंदपुर, कृष्‍णपाली आदि गांवों में प्रवेश कर जाता है। इससे फसल छति के साथ ही बाढ़ भी आ जाता है। इस समस्‍या से निपटने के लिए सुईस गेट की जरूरत है। इस समस्‍या को लेकर अंचल कार्यालय दरौली को 2008 में भी जानकारी दी गई थी। लेकिन करीब 12 साल बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसको लेकर विधायक सत्यदेव राम ने भी धरना दिया था।
गोपालगंज के ट्रिपल मर्डर केस में जेडीयू MLA पप्‍पू पांडे की बढ़ी मुश्‍किलें

गोपालगंज के ट्रिपल मर्डर केस में जेडीयू MLA पप्‍पू पांडे की बढ़ी मुश्‍किलें

गोपालगंज के ट्रिपल मर्डर केस में जेडीयू MLA पप्‍पू पांडे से अब एसआईटी पूछताछ करने वाली है। गोपालगंज के कुचायकोट से विधायक अमरेंद्र उर्फ पप्‍पू पांडे की गिरफ्तारी के लिए राजद नेता तेजस्‍वी यादव काफी जोर लगा रह‍े हैं। हालांकि, अब तक पप्‍पू पांडे ग‍िरफ्तार नहीं हुए हैं। इस ग‍िरफ्तारी के ल‍िए तेजस्‍वी ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को आज शाम तक का अल्‍टीमेटम भी दिया है। इसके बाद पटना से गोपालगंज विधायकों के साथ मार्च की चेतावनी दी थी। बता दें क‍ि इस मामले में कल यानी बुधवार को जांच के लिए राज्य सरकार ने विशेष जांच टीम (एसआइटी) कर दी है। सारण रेंज के डीआइजी को इसकी कमान सौंपी गयी है। पुलिस इस मामले में जदयू के विधायक अमरेंद्र पांडेय की संलिप्तता की जांच कर रही है।  पप्‍पू पांडे से पहले उनके भाई सतीश पांडे और भतीजा मुकेश पांडे भी पुलिस की गिरफ्त में हैं। इस बीच, राजद ने अपने आधिकारिक ट्वीटर अकाउ
बिहार बोर्ड: पिता के साथ सब्‍जी बेचने वाले हिमांशु के टॉपर बनने की कहानी

बिहार बोर्ड: पिता के साथ सब्‍जी बेचने वाले हिमांशु के टॉपर बनने की कहानी

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक रिजल्ट जारी कर दिया है। इस बार मैट्रिक की परीक्षा में छात्रों का दबदबा रहा है। इस बार टॉपर की लिस्‍ट में टॉप 3 में एक भी लड़की नहीं है। वहीं रोहतास के नटवार के जनता हाईस्कूल के हिमांशु राज टॉपर बने हैं। रोहतास के हिमांशु राज बिहार बोर्ड के मैट्रिक परीक्षा के टॉपर बने हैं। हिमांशु ने 96.20 फीसदी अंक हासिल किए हैं। उन्हें 481 नंबर मिले हैं। टॉपर बनने के बाद हिमांशु ने कहा कि कोचिंग के साथ पापा भी पढ़ाई कराते थे। घर में 14 घंटे की पढ़ाई करते थे, जिसके बाद आज वह टॉप आए हैं। हिमांशु ने कहा कि वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं। इसको लेकर वह आगे भी कड़ी मेहनत करेंगे। हिमांशु ने कहा कि पापा किसान हैं। वह दूसरे के खेत को पट्टा पर लेकर खेती करते हैं। कई बार तो पढ़ाई के दौरान आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण परेशानी भी हुई, लेकिन किसी तरह से पढ़ाई जारी रहा। हिमांशु ने
गोपालगंज ट्रिपल मर्डर : RJD ने पूछा-पप्‍पू पांडे की कब गिरफ्तारी होगी?

गोपालगंज ट्रिपल मर्डर : RJD ने पूछा-पप्‍पू पांडे की कब गिरफ्तारी होगी?

गोपालगंज में रविवार रात हुए मर्डर मामले ने अब राजनीतिक मोड़ ले लिया है। दरअसल, इस मामले में जेडीयू विधायक पप्‍पू पांडे के भाई सतीश पांडे और भतीजे मुकेश पांडे पर आरोप लगे हैं। इन आरोपों की वजह से पुलिस ने पिता-पुत्र सतीश और मुकेश पांडे को गिरफ्तार भी कर लिया है। अब राजद ने पूछा है कि इस मामले में पप्‍पू पांडे कब तक गिरफ्तार होंगे। राजद के आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से लिखा गया है- 'भाजपाई' DGP पांडे की बिहार पुलिस ने दिखावे के लिए JDU विधायक अमरेन्द्र पप्पू पांडे द्वारा करवाए ट्रिपल मर्डर हत्याकांड में अपने हाथ से गोली चलाने वाले भाई व भतीजा सतीश और मुकेश पांडे को तो गिरफ्तार किया है पर गोली चलवाने वाले विधायक की गिरफ्तारी अभी तक किसके डर से नहीं की गई है? क्‍या है मामला आपको बता दें कि रविवार रात एक माले नेता जेपी यादव के घर में घुसकर अपराधियों ने जमकर तांडव मचाया। जेपी यादव समेत
गोपालगंज ट्रिपल मर्डर : सतीश पांडे और बेटे मुकेश को पुलिस ने गिरफ्तार किया

गोपालगंज ट्रिपल मर्डर : सतीश पांडे और बेटे मुकेश को पुलिस ने गिरफ्तार किया

बिहार के गोपालगंज जिले के हथुआ थाने के रूपनचक गांव में रविवार की देर शाम गोलियों से भूनकर हुई माले नेता के पिता, मां व भाई की हत्या के मामले में पुलिस ने जिला परिषद अध्यक्ष मुकेश पांडेय व उनके पिता सतीश पांडेय को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार जिला परिषद अध्यक्ष मुकेश पांडेय कुचायकोट विधानसभा क्षेत्र के जदयू विधायक अमरेन्द्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय के भतीजा हैं। वहीं सतीश पांडेय उनके बड़े भाई हैं। आपको बता दें कि रविवार को हथुआ थाने के रूपनचक गांव में डबल मर्डर की घटना हुई। सुनें वीडियो https://www.youtube.com/watch?v=PN99fBpJcHU मृतक पति-पत्नी रूपनचक गांव के रहने वाले महेश चौधरी और इनकी पत्नी संकेशिया देवी हैं. वहीं शांतनम चौधरी और माले नेता जेपी यादव को घायल अवस्था में गोपालगंज सदर अस्पताल में लाया गया, जहां शांतनम की बाद में मौत हो गई. घटना की वजह राजनीतिक रंजिश बताई जा
सीवान में बनने जा रहा सोनू सूद की मूर्ति! एक्‍टर ने दिया ये जवाब

सीवान में बनने जा रहा सोनू सूद की मूर्ति! एक्‍टर ने दिया ये जवाब

कोरोना वायरस के इस संकटकाल में फिल्‍म अभिनेता सोनू सूद प्रवासी मजदूरों के लिए भगवान बनकर सामने आए हैं। सोनू सूद बिना किसी प्रचार के प्रवासी मजदूरों की मदद कर रहे हैं। यही वजह है कि सोशल मीडिया पर सोनू सूद को लेकर लोगों में दीवानगी बढ़ गई है। लोग लगातार सोशल मीडिया के जरिए उनके तारीफ कर रहे हैं। कोई सोनू के लिए कविता लिख रहा है, तो कोई उन्हें भगवान का दर्जा दे रहा है। अब हाल ही में एक शख्स ने सोनू सूद की नेकदिली से खुश होकर ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने बताया की बिहार के सिवान जिले में उनकी मूर्ति बनवाने की लोग तैयारी कर रहे हैं। इस शख्स ने ट्वीट करते हुए सोनू सूद को टैग किया और लिखा, "बिहार का जिला सिवान जहां लोग आपकी मूर्ति बनवाने की तैयारी में हैं। सलाम सर बहुत-बहुत प्यार आपको। " शख्स के इस ट्वीट का जवाब देते हुए सोनू सूद ने लिखा, "भाई उस पैसे से किसी गरीब की मदद करना। " सोनू सू
सीवान में कोरोना नहीं, क्‍वारंटाइन सेंटर से डरिए…

सीवान में कोरोना नहीं, क्‍वारंटाइन सेंटर से डरिए…

बिहार के सीवान जिले में कोरोना के 50 से ज्‍यादा पॉजिटिव मरीज मिले हैं लेकिन इसमें से अधिकतर मरीज रिकवर हो रहे हैं। सीवान के लोग कोरोना को तो हरा दे रहे हैं लेकिन जिले के क्‍वारंटाइन सेंटर में हार जा रहे हैं। जी हां, सीवान के क्‍वारंटाइन सेंटर में एक और संदिग्‍ध मौत हुई है। ये मामला गोरेाकोठी प्रखंड के सिसई मध्य विद्यालय क्‍वारंटाइन सेंटर का है। बताया जा रहा है कि मुंबई से लौटे प्रवासी मजदूर को रात भर पेट दर्द और उल्टी हुई। डॉक्टरों की सलाह पर उसे दवा दी गई लेकिन उसकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। रविवार सुबह उसने दम तोड़ दिया। बता दें कि हाल ही में सीवान शहर के राजेंद्र पथ स्थित क्‍वारंटाइन सेंटर में अधेड़ व्यक्ति की मौत हो गयी थी। मृतक दरौली प्रखंड के भिटौली गांव का रहने वाला था। आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम गोरेयाकोठी के क्‍वारंटाइन सेंटर मजदूर की संदिग्ध हालत में हुई मौत क
बनना हो तो ‘सूद’ बनो, सोनू तो निगम भी है….

बनना हो तो ‘सूद’ बनो, सोनू तो निगम भी है….

बनना हो तो 'सूद' बनो, सोनू तो निगम भी है.... बीते कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर ये चुटकुला खूब चल रहा है। सोनू सूद, नाम से आप शायद न जानते हों लेकिन फिल्‍मों के शौकीन हैं तो आपको फिल्‍म दबंग का खलनायक छेदी याद होगा। वही छेदी, जिसे देख कर चुलबुल पांडे डायलॉग मारता है। अब वह छेदी प्रवासी मजदूरों के लिए भगवान बन गया है। दरअसल, कोरोना संकट के बीच जारी लॉकडाउन की वजह से हज़ारों प्रवासी मज़दूर देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे हुए हैं। लॉकडाउन के पहले चरण के ऐलान के बाद से ही अंतरराज्यीय और रेल सेवाएं बंद कर दी गई थीं. इसकी वजह से बड़ी संख्या में मज़दूर पैदल ही अपने घरों को जाने से के लिए मजबूर हो गए थे। ऐसी संकट की घड़ी में अभिनेता सोनू सूद मज़दूरों के लिए बड़ी राहत बनकर उभरे हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार से ख़ास अनुमति लेकर प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए कई बसों का इंतजाम करवाया।
प्रवासी मजदूरों को राहत, अगले 10 दिनों में 2600 और श्रमिक स्पेशल ट्रेन दौड़ेगी

प्रवासी मजदूरों को राहत, अगले 10 दिनों में 2600 और श्रमिक स्पेशल ट्रेन दौड़ेगी

जहां एक ओर देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है, वहीं भारतीय रेलवे इस महत्वपूर्ण समय में गंभीर रूप से प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। इन प्रवासियों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाकर राहत प्रदान करने के निरंतर प्रयासों के तहत एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए रेल मंत्रालय ने अगले दस दिनों में देश भर में राज्य सरकारों की जरूरतों के अनुसार 2600 और श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन करने का फैसला किया है। इस पहल से देश भर में फंसे 36 लाख यात्रियों को लाभ मिलने की संभावना है। उल्लेखनीय है कि भारतीय रेलवे ने लॉकडाउन के कारण विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी कामगारों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए 01 मई 2020 से "श्रमिक स्पेशल" ट्रेनों का परिचालन शुरू किया था। इन विशेष ट्रेनों को ऐसे फंसे हुए व्यक्तियों को भेजने और प्र
error: Content is protected !!