townaajtak@gmail.com

Month: January 2020

मोदी सरकार में ‘मांसाहारी’ के मुकाबले ‘शाकाहारी’ थाली सस्ती हुई!

मोदी सरकार में ‘मांसाहारी’ के मुकाबले ‘शाकाहारी’ थाली सस्ती हुई!

भारत में पिछले 13 वर्षो में 'मांसाहारी थाली' की तुलना में 'शाकाहारी थाली' की कीमत में अधिक सुधार हुआ है। संसद में पेश किए गए आर्थिक समीक्षा 2019-20 में यह बात सामने आई है। सर्वेक्षण में कहा गया है कि 2006-2007 की तुलना में 2019-20 में शाहाकारी भोजन की थाली 29 प्रतिशत और मांसाहारी भोजन की थाली 18 प्रतिशत सस्ती हुई है। केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारतीयों के लिए दैनिक आहार से संबंधित दिशानिर्देशों की सहायता से थाली की मूल्य का आंकलन किया गया है। अब औद्योगिक श्रमिकों की दैनिक आमदनी की तुलना में भोजन की थाली और सस्ती हो गई है। उन्होंने कहा कि भारत में भोजन की थाली के अर्थशास्त्र के आधार पर समीक्षा में यह निष्कर्ष निकाला गया है। यह अर्थशास्त्र भारत में एक सामान्य व्यक्ति द्वारा एक थाली के लिए किए जाने वाले भुगतान को मापने का प्रयास है। इसके लिए
कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट मोड में सीवान!

कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट मोड में सीवान!

कोरोना वायरस की वजह से भारत समेत दुनिया भर में एक डर का माहौल है। इससे बिहार का सीवान जिला भी अछुता नहीं है। दरअसल, कोरोना वायरस को लेकर सीवान का  स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। सीवान अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित संभावित मरीजों के लिए अलग व्यवस्था की गई है। हालांकि अभी तक जिले में कोरोना वायरस संक्रमित कोई मरीज नहीं मिला है। जिला अस्पताल के चिकित्सकों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार ज्यादा दिनों तक खांसी, सर्दी, बुखार आदि से पीड़ित मरीजों को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। ज्यादा परेशानी होने पर चिकित्सक के देखरेख में जांच कराना आवश्यक होता है। इसे संक्रमण के कारण निमोनिया गंभीर रूप धारण कर लेता है और गुर्दा खराब हो जाता है, जिसके कारण मृत्यु की संभावना बढ़ जाती है। इस बीच, कोरोना वायरस के खतरे के बीच चीन में रह रहे अधिकांश भारतीय छात्र व अन्य नागरिक जल्द ही भारत लौटेंगे। भारत
अभिनेत्री अक्षरा सिंह की बढ़ी परेशानी, कोर्ट में होगी पेशी

अभिनेत्री अक्षरा सिंह की बढ़ी परेशानी, कोर्ट में होगी पेशी

भोजपुरी की मशहूर अभिनेत्री अक्षरा सिंह फिर विवादों में हैं। दरअसल, इस बार उन पर ठगी का मामला है, जिसमें अक्षरा को कोर्ट में पेश होना होगा। बताया जा रहा है कि अक्षरा सिंह 7 फरवरी को खगडिय़ा की अदालत में पेश हो सकती हैं। क्या है मामला दरअसल, आठ जुलाई 2018 को एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम में अक्षरा सिंह के नाम पर लाखों की उगाही हुई थी। अक्षरा सिंह के नहीं आने पर दर्शकों ने जमकर बवाल काटा। दस लाख से अधिक की संपत्ति में आग लगा दी। इसमें पुलिस ने कई मामले दर्ज किए। कार्यक्रम के दो दिन पहले गायिका अक्षरा सिंह ने वीडियो वायरल कर खगडिय़ा के लोगों से कार्यक्रम में जुट कर आने की अपील की थी। हालांकि, अब अक्षरा सिंह का कहना है कि आयोजक ने उन्हें भी ठग लिया। खगडिय़ा आने के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई, जिससे वह कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकी।
प्रशांत किशोर के राजद में शामिल होने के कयास, तेजप्रताप ने किया स्वागत

प्रशांत किशोर के राजद में शामिल होने के कयास, तेजप्रताप ने किया स्वागत

जनता दल (युनाइटेड) से निकाले गए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने अब तक भले ही भविष्य की योजनाओं को लेकर कोई खुलासा नहीं किया हो, लेकिन उनके राजद में आने का कयास लगाया जा रहा है और इस मुद्दे को लेकर राजद में मतभेद उभरने लगा है। राजद नेता तेजप्रताप यादव ने जहां प्रशांत किशोर के राजद में आने पर उनका स्वागत करने की बात कही, वहीं प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने प्रशांत उनकी तुलना 'गंदी नाली के कीड़े' से कर दी। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को कहा, "प्रशांत के साथ जद (यू) ने अच्छा नहीं किया। प्रशांत अगर राजद में आना चाहते हैं तो आ सकते हैं। हम पार्टी में उनका स्वागत करेंगे।" वहीं, राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने प्रशांत किशोर की तुलना नाली के कीड़े से की। उन्होंने कहा, "गंदे नाले से आप पानी निकालोगे तो क्या उसका इस्तेम
सीवान: वो गांव जहां शिक्षकों के सामूहिक तबादले के लिए हो रहा अनशन

सीवान: वो गांव जहां शिक्षकों के सामूहिक तबादले के लिए हो रहा अनशन

इन दिनों सीवान जिले के हसनपुरा के हरपुर कोटवा का उत्क्रमित मिडिल स्कूल चर्चा में है। दरअसल, इस स्कूल परिसर में दो दिन से ग्रामीण अनशन कर रहे हैं। अहम बात ये है कि इस अनशन में स्कूल के छात्र भी शामिल हैं। अनशन के दौरान गांव का एक भी बच्चा स्कूल में पढ़ने नहीं गया। शिक्षक परिसर में बैठकर बच्चों की वाट जोहते रहे। क्या है अनशन की वजह? दरअसल, ग्रामीणों ने शिक्षकों के सामूहिक तबादले की मांग को ले अनशन किया है। बताया जा रहा है कि​ स्कूल में पिछले आठ माह से एमडीएम नहीं बनने, स्कूल की विधि व्यवस्था बदतर होने के साथ शिक्षकों की कारगुजारियों को ले ग्रामीणों ने वरीय अधिकारियों को आवेदन देकर शिक्षकों के सामूहिक तबादले की मांग की थी। लेकिन विभाग ने पूरे मामले की जांच किए बिना ही एमडीएम का संचालन कर दिया। जिससे ग्रामीण मायूस हो कर बच्चों के हित में आमरण अनशन पर बैठ गये। प्रशासन को कोई सुध नही
ये कैसा सुशासन! पटना में दिनदहाड़े प्रोफेसर की हत्या

ये कैसा सुशासन! पटना में दिनदहाड़े प्रोफेसर की हत्या

बिहार की राजधानी पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र में बुधवार को बदमाशों ने दिनदहाड़े एक प्रोफेसर की गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गए। फिलहाल हत्या के कारणों का अब तक पता नहीं चल सका है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि टी़ पी़ एस़ कॉलेज के राजनीतिक शास्त्र के प्रोफेसर शिव नारायण राम (55) बुधवार को अपने घर से कॉलेज जा रहे थे तभी चांदमारी रोड पर बाइक सवार अपराधियों ने उन पर अंधाधुंध गोलीबारी कर दी और मौके से भाग निकले। घायल अवस्था में प्रोफेसर को पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। हत्या के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल पाया है। परिजनों का कहना है कि उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। इसबीच, पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी से फूटेज जुटाकर मामले की जांच कर रही है। दिनदहाड़े प्रोफेसर की हत्या के विरोध में स्थानीय लोगों ने चांदमारी रोड जाम कर दिया और आरोपियों
सीवान में CAA-NRC के विरोध में बवाल, SP ने ऐसे संभाला मोर्चा

सीवान में CAA-NRC के विरोध में बवाल, SP ने ऐसे संभाला मोर्चा

बीेते दो महीनों से देश भर में CAA और NRC को लेकर जमकर विरोध हो रहा है। दिल्ली के शाहीनबाग से लेकर बिहार के सीवान जिले तक लोग इसका विरोध कर रहे हैं। विरोध प्रदर्शन के लिए कोई धरना देकर तो कोई अन्य तरीके अपना रहा है। लेकिन बुधवार को यह विरोध—प्रदर्शन बवाल में बदल गया। दरअसल, बुधवार को वामदलों ने भारत बंद का आह्वान किया था। बिहार के कई जिलों में सुबह से ही इसका असर दिख रहा था। इससे सीवान भी अछूता नहीं रहा। जानकारी के मुताबिक सीवान के हुसैनगंज के हथौड़ा में एनआरसी, सीएए और एनपीआर के विरोध में सड़क जाम कर प्रदर्शन करने के दौरान दो पक्षों में विवाद के बाद कुछ देर के लिए पत्थरबाजी की गई। घटना की सूचना पर मुख्यालय से काफी संख्या में पुलिस बल के साथ एसडीओ और एसडीपीओ मौके पर पहुंचे। वहीं, शहर के बबुनिया मोड़ समीप ललन काम्प्लेक्स में बंद का विरोध करने पर पथराव किया गया। इस दौरान सीवान के एसपी
घायल हुई भोजपुरी एक्ट्रेस मोनालिसा!

घायल हुई भोजपुरी एक्ट्रेस मोनालिसा!

भोजपुरी फिल्मों की ग्लैमरस अदाकारा मोनालिसा ने एक तस्वीर शेयर की है। इस तस्वीर में मोनालिसा अस्पताल की पेशेंट वाली ड्रेस पहन कर हॉस्पिटल के बेड पर बैठी नजर आ रही हैं। बैकग्राउंड में ऑक्सीजन सिलेंडर रखा हुआ नजर आ रहा है और उसके पास ही ग्लूकोज की बॉटल और ड्रिप भी लटकती दिख रही है। इस तस्वीर को देखकर मोनालिसा के फैन्स परेशान हो गए हैं। मोनालिसा ने तस्वीर के कैप्शन में उनके बीमार या जख्मी होने की बात नहीं लिखी है। उन्होंने लिखा, "मेरी खामोशी बस एक दूसरी तरह की भाषा है." इस कैप्शन को पढ़ने और तस्वीर को देखने के बाद फैन्स को ये समझ में नहीं आ रहा है कि क्या उन्हें कोई चोट लगी है या फिर ये तस्वीर उनके किसी नए शो के शूटिंग सेट से ली गई है।
जिस PK को नीतीश ने बताया था बिहार का भविष्य, उसे 2 साल में पार्टी से निकाला

जिस PK को नीतीश ने बताया था बिहार का भविष्य, उसे 2 साल में पार्टी से निकाला

प्रशांत किशोर ने दो साल पहले 2018 में जेडीयू से सियासी पारी का आगाज किया था. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीके को बिहार का भविष्य बताया था। अब उसी नीतीश कुमार का रुख प्रशांत किशोर के लिए बदल गया है। पीके को बुधवार को जेडीयू से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। बुधवार को jdu उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और राज्यसभा के पूर्व सांसद पवन कुमार वर्मा को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया है। जद (यू) के प्रधान महासचिव क़े सी़ त्यागी ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि पार्टी का अनुशासन, पार्टी का निर्णय और पार्टी नेतृत्व के प्रति वफादारी ही दल का मूलमंत्र होता है। उन्होंने कहा कि पिछले कई महीनों से दल के अंदर पदाधिकारी रहते हुए प्रशांत किशोर ने कई विवादास्पद बयान दिए, जो दल के निर्णय के विरुद्घ एवं उनके स्वेच्छाचारिता का परिचायक है। बयान में कहा गया है कि पार्टी ने उन्हें (प्रशा
देशद्रोह के आरोपी शरजील को बिहार से दिल्ली ले जाने की तैयारी

देशद्रोह के आरोपी शरजील को बिहार से दिल्ली ले जाने की तैयारी

भड़काऊ भाषण देने के आरोपी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र शरजील इमाम को मंगलवार को जहानाबाद जिले के काको थाना क्षेत्र से दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने बिहार पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया। शरजील को अब दिल्ली ले जाया जा रहा है। जहानाबाद के पुलिस अधीक्षक मनीष ने आईएएनएस को बताया कि शरजील को पुलिस ने मंगलवार को काको थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसे जहानाबाद के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पेश किया, जहां से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद उसे पटना ले जाया जा रहा है, वहां से उसे दिल्ली ले जाया जाएगा। पुलिस मुख्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शरजील की गिरफ्तारी एक बड़ी सफलता है। उन्होंने बताया कि 25 जनवरी को ही दिल्ली पुलिस बिहार आ गई थी और उसने बिहार पुलिस से सहयोग मांगा था। उन्होंने बताया कि 25 जनवरी 2020 को शाम करीब 7-8 बजे के बीच श
error: Content is protected !!