townaajtak@gmail.com

Month: October 2019

फेसबुक पर राजद नेता ने की शराबबंदी की आलोचना, हुआ गिरफ्तार

फेसबुक पर राजद नेता ने की शराबबंदी की आलोचना, हुआ गिरफ्तार

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आपत्तिजनक पोस्‍ट व शराबबंदी कानून धता बताते हुए एक वीडियो वायरल करना एक राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता को महंगा पड़ा है। पुलिस ने फेसबुक पेज पर अभद्र वीडियो शेयर करने के आरोप में मधुबनी के आरजेडी जिला उपाध्यक्ष सचिन कुमार चौधरी को गिरफ्तार कर लिया है। मधुबनी पुलिस के तकनीकी सेल प्रभारी शैलेश कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने आरजेडी नेता सचिन कुमार चौधरी को उनके घर से गिरफ्तार कर लिया। सचिन कुमार चौधरी मधुबनी के जयनगर थाना क्षेत्र के बरही गांव निवासी के निवासी हैं। तकनीकी सेल के प्रभारी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित पर फेसबुक पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ जारी एक वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करने का आरोप है। आराेपित ने शराबबंदी कानून को धता बताते वीडियो को वायरल किया है। आरोपित ने मुख्यमंत्री की बातों की आलोचना भी की है।
यहां जानिए कौन है भारत के अगले मुख्य न्यायाधीश

यहां जानिए कौन है भारत के अगले मुख्य न्यायाधीश

न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबड़े भारत के अगले मुख्य न्यायाधीश होंगे। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने मंगलवार को उनके नियुक्ति पत्र पर हस्ताक्षर किए। वह सुप्रीम कोर्ट के वर्तमान चीफ जस्टिस (मुख्य न्यायाधीश) रंजन गोगोई की जगह लेंगे। जस्टिस बोबड़े 18 नवंबर को मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ लेंगे और लगभग 18 महीने तक इस पद पर रहेंगे। वर्तमान में मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई का कार्यकाल 17 अक्टूबर को समाप्त हो रहा है। उन्होंने दूसरे वरिष्ठतम न्यायाधीश न्यायमूर्ति बोबडे को अपना उत्तराधिकारी बनाने की सिफारिश की थी। न्यायमूर्ति रंजन गोगोई भारत के 46वें मुख्य न्यायाधीश हैं। उन्होंने तीन अक्टूबर 2018 को अपना पदभार संभाला था। न्यायमूर्ति बोबड़े सबसे लंबे समय तक चलने वाले अयोध्या भूमि विवाद मामले की सुनवाई करने वाली पांच न्यायाधीशों वाली संविधानिक पीठ का हिस्सा थे। मामले में अभी फैसला
बिहार में बेखौफ अपराधी, त्योहार के दिन आधा दर्जन से अधिक मर्डर

बिहार में बेखौफ अपराधी, त्योहार के दिन आधा दर्जन से अधिक मर्डर

वैसे तो दिवाली को हर्ष का त्योहार माना जाता है लेकिन बिहार में दिवाली की रात काली हो गई। दरअसल, इस दिन अपराधियों ने जमकर तांडव मचाया और आधा दर्जन से अधिक लोगों की हत्या कर दी गई। -हत्या के खबर की शुरुआत बिहार के सीवान जिले से करते हैं। सीवान के मुफस्सिल थाना स्थित आकोपुर में एक हत्या कर दी गई। इस हत्या के पीछे आपसी रंजिश बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक सीवान जिले में दिवाली की रात जुआ खेलने को लेकर हुए विवाद में एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना महादेवा ओपी थाना क्षेत्र के आकोपुर गांव की है। सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक की पहचान शंभू मांझी के रूप में हुई है। घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि आकोपुर गांव में कुछ लोग बैठकर जुआ खेल रहे थे। इसी दौरान दो युवक आपस में भिड़ गए। विवाद इतना बढ़ा कि एक युवक ने
बिहार: 1 नवंबर से बदलने जा रहा बैंकों का ये बड़ा नियम

बिहार: 1 नवंबर से बदलने जा रहा बैंकों का ये बड़ा नियम

बिहार की राजधानी पटना में 1 नवंबर से बैंकों के खुलने का समय बदल जाएगा। जी हां, दरअसल, राजधानी के सार्वजनिक, सहकारी और निजी बैंक ग्राहक सेवा सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक ही रहेगी। यहां बता दें कि पटना जिले में 912 शाखाएं हैं। पटना में यह फैसला ऐसे समय में आया है जब हाल ही में वित्त मंत्रालय की बैंकिंग डिविजन ने बैंकों के खुलने के समय में एकरूपता लाने के लिए निर्देश दिया था। बता दें कि वित्त मंत्रालय की बैठक में तय किया गया था कि बैंकों में कामकाज ग्राहकों की सुविधा के हिसाब से होना चाहिए। इसलिए बैंकों के खुलने के समय में बदलाव को मंजूरी दी गयी। पहले क्या था अगर पहले की बात करें तो एक ही इलाके में अलग-अलग बैंकों के अलग-अलग समय थे। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। दरअसल, वित्त मंत्रालय की तरफ से बैंकिंग टाइम में बदलाव करने के लिए तीन विकल्प दिये थे। पहले विकल्प के तौर पर सुबह 9 से दोपहर
बिहार : जनसाधारण एक्सप्रेस की बोगियों पर होगा ये बड़ा बदलाव

बिहार : जनसाधारण एक्सप्रेस की बोगियों पर होगा ये बड़ा बदलाव

राष्ट्र के एकीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभानेवाले सरदार वल्लभाई पटेल की जयंती के मौके पर इस बार रेलवे उनकी जीवनी और और उनके जीवन दर्शन को जन-जन तक पहुंचाने की तैयारी में है। इसी क्रम में रेलवे मुजफ्फरपुर-अहमदाबाद-मुजफ्फरपुर तक परिचालन वाली जनसाधारण एक्सप्रेस (ट्रेन संख्या-15269/15270) की बोगियों को 'लौह पुरूष' के जीवन से जुड़ी घटनाओं की तस्वीरों से सजाया जा रहा है। पटेल की जयंती (31 अक्टूबर) से इस ट्रेन में यात्रा करने वाले लोग पटेल के जीवन दर्शन को समझ सकेंगे। पूर्व-मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने आईएएनएस को सोमवार को बताया, "राष्ट्रीय एकता के सूत्रधार और राष्ट्र के एकीकरण में सरदार पटेल के योगदान की थीम वाली विनाइल रैपिंग यानी प्लास्टिक कोटेड पेंटिंग से सुजज्जित नई एलएचबी रेक के साथ परिचालित होगी। यात्री यात्रा के साथ ही सरदार पटेल के विषय में विशेष जानकारी भी
सीवान: ओमप्रकाश यादव ने जिसका विरोध किया वो हार गए!

सीवान: ओमप्रकाश यादव ने जिसका विरोध किया वो हार गए!

बीते दिनों देश के कई राज्यों में हुए उपचुनाव के नतीजे आए। इन नतीजों में कुछ ऐसे भी विधानसभा क्षेत्र ​हैं जिनकी चर्चा अब भी हो रही है। उसमें सबसे बड़ा नाम बिहार के दरौंदा विधानसभा का आता है। दरअसल, दरौंदा विधानसभा में उपचुनाव के नतीजों में निर्दलीय उम्मीदवार व्यास सिंह को जीत मिली है। वहीं एनडीए की ओर से जेडीयू उम्मीदवार अजय सिंह हार गए हैं। इस जीते और हारे हुए उम्मीदवार के बीच एक नाम जो सबसे अधिक चर्चा मेंं है वो पूर्व सांसद ओमप्रकाश यादव का है। बीजेपी के पूर्व सांसद ओमप्रकाश यादव को व्यास सिंह की जीत का नायक बताया जा रहा है। दरअसल, ओमप्रकाश यादव लगातार अजय सिं​ह का विरोध कर रहे थे। उन्होंने अपने ही आलाकमान के खिलाफ स्टैंड लिया और खुलेआम अजय सिंह के अपराधी छवि का जिक्र किया। यह पहली बार नहीं है जब​ अजय सिंह के खिलाफ ओमप्रकाश यादव ने मोर्चा खोला है। इससे पहले भी कई ऐसे मामले आए हैं जब उन
बिहार : उपचुनाव ने राजद को दी ‘संजीवनी’, महागठबंधन में तेजस्वी का कद बढ़ाया

बिहार : उपचुनाव ने राजद को दी ‘संजीवनी’, महागठबंधन में तेजस्वी का कद बढ़ाया

बिहार की पांच विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजों ने जहां सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को झटका दिया है, वहीं महज पांच महीने पहले लोकसभा चुनाव में एक भी सीट न पाने वाले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के लिए यह उपचुनाव 'संजीवनी' माना जा रहा है। पांच सीटों पर हुए उपचुनाव में विपक्षी राजद सत्ताधारी जनता दल युनाइटेड (जदयू) से दो सीटें झटकने में कामयाब रहा। इस साल हुए लोकसभा चुनाव में राजग को 40 में से 39 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि राजद खाता भी नहीं खोल सका था, मगर इसके नेतृत्व वाले विपक्षी दलों के महागठबंधन में शामिल कांग्रेस प्रत्याशी मोहम्मद जावेद किशनगंज सीट जीतने में कामयाब रहे हैं। बिहार में हुए उपचुनाव में बेलहर से राजद प्रत्याशी रामदेव यादव और सिमरी बख्तियारपुर से जफर आलम विजयी हुए हैं। जदयू ने नाथनगर सीट जीती। पार्टी उम्मीदवार लक्ष्मीकांत मंडल ने राजद की राबिया ख
उपचुनाव में जीत के बाद बदलेगी लोजपा की कमान

उपचुनाव में जीत के बाद बदलेगी लोजपा की कमान

बिहार में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान पार्टी की पूरी कमान युवाशक्ति को सौंपने वाले हैं। इस कड़ी में उन्होंने समस्तीपुर लोकसभा सीट से नवनिर्वाचित सांसद और अपने भतीजे प्रिंस राज को पार्टी की बिहार प्रदेश इकाई की कमान सौंप दी है और अब वह अपने पुत्र और जमुई से सांसद चिराग पासवान को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपने वाले हैं। एक सूत्र ने बताया कि राम विलास पासवान अगले महीने 28 नवंबर को पार्टी के स्थापना दिवस पर अपने पुत्र और जमुई से सांसद चिराग पासवान को पार्टी अध्यक्ष पद की कमान सौंपने का एलान कर सकते हैं। राम विलास पासवान ने 28 नवंबर, 2000 को लोजपा का गठन किया था। तब से वह पार्टी के अध्यक्ष हैं। नवनिर्वाचित सांसद प्रिंस राज के शनिवार को दिल्ली पहुंचने पर पार्टी कार
सीवान: व्यास सिंह पर सुशील मोदी के बदले सुर

सीवान: व्यास सिंह पर सुशील मोदी के बदले सुर

कहते हैं कि विजेता से हर कोई नाता जोड़ना चाहता है। यह कहावत सीवान के दरौंदा विधानसभा के नए विधायक व्यास सिंह पर सटीक बैठती है। दरअसल, बीजेपी के नेता रहे व्यास सिंह ने निर्दलीय चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में उन्हें बीजेपी की ओर से बार—बार नहीं लड़ने को कहा गया। चुनाव प्रचार के आखिरी दिन दरौंदा पहुंचे सुशील मोदी ने मंच से कड़ी चेतावनी दी थी कि अगर व्यास सिंह ने नामांकन वापस नहीं लिया तो उन्हें कड़ी सजा देंगे। यहां तक की बाद में पार्टी से भी निकाल दिया गया। अब जब निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर व्यास सिंह को जीत मिल गई है तो सुशील मोदी के सुर बदल गए हैं। सुशील मोदी ने कहा कि बिहार विधानसभा की पांच सीटों पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस का खाता नहीं खुला। दरौंदा में एनडीए के विद्रोही प्रत्याशी ने जीत पायी जबकि वहां राजद तीसरे स्थान पर रहा।नाथनगर में एनडीए का उम्मीदवार जीता। समस्तीपुर लोकसभा सीट जी
सीवान: बीजेपी ने क्यों लिखी दरौंदा में अजय सिंह के हार की कहानी?

सीवान: बीजेपी ने क्यों लिखी दरौंदा में अजय सिंह के हार की कहानी?

यहां पढ़ें तिवारी जी का लेख हाल ही में दरौदा विधानसभा के उपचुनाव में जदयू के अजय सिंह और वर्तमान सांसद कविता सिंह के पति को निर्दलीय प्रत्याशी व्यास सिंह ने पटखनी दे दी। व्यास सिंह चर्चित पाल सिंह परिवार के हैं। दरौदा सीट राजपूतों का चित्तौड़गढ़ है इसलिए तो वहां राजद ने राजपूत उम्मीदवार उमेश सिंह को तो जदयू ने राजपूत उम्मीदवार अजय सिंह को उतारा। दरौंदा उपचुनाव में विजयी उम्मीदवार व्यास सिंह भी राजपूत जाति से ही आते हैं। परिसीमन के बाद दरौंदा विधानसभा से मात्र राजपूत उम्मीदवार ही जीत हासिल करते आये हैं। दरौदा सीट जो अजय सिंह की माता जगमातो देवी का था जो बाद में अजय सिंह की पत्नी कविता सिंह के कब्जे में हो गया। वहां अजय सिंह की पुश्तैनी राजनीतिक वर्चस्व को एक राजपूत व्यास सिंह ने तोड़ा है। गौरतलब है कि दरौदा विधानसभा में ही अजय सिंह का गांव हैं किंतु अजय सिंह दरौंदा की जनता का विश्
error: Content is protected !!