townaajtak@gmail.com

Month: June 2019

आमिर खान की ”बेटी” ने छोड़ा बॉलीवुड, कहा ‘ईमान से दूर जा रही थी’

आमिर खान की ”बेटी” ने छोड़ा बॉलीवुड, कहा ‘ईमान से दूर जा रही थी’

आमिर खान की ब्लॉकबस्टर फिल्म 'दंगल' से डेब्यु कर रातोंरात मशहूर हुईं कश्मीरी अभिनेत्री जायरा वसीम ने फिल्म करियर को अलविदा कहने का फैसला किया है। उनका कहना है कि इसके कारण वह अपने धर्म से दूर जा रही थीं। अपने फेसबुक पेज पर विस्तार से लिखे एक पोस्ट में 18 वर्षीय अभिनेत्री ने बॉलीवुड में अपने अच्छे करियर को छोड़ने के लिए धार्मिक कारणों का हवाला दिया। उन्होंने कहा, "पांच साल पहले, मैंने एक फैसला लिया, जिसने मेरी जिंदगी बदलकर रख दी। मैंने जैसे ही बॉलीवुड में कदम रखा, इसने मेरे लिए लोकप्रियता के दरवाजे खोल दिया।" जायरा ने कहा कि जनता का ध्यान उनकी ओर खिंचने लगा और वह युवाओं के लिए एक रोल मॉडल के रूप में पहचानी जाने लगीं। उन्होंने कहा, "हालांकि, ऐसा कुछ नहीं था जो मैंने करने या बनने के बारे में सोचा था, विशेष रूप से सफलता और असफलता को लेकर मेरे विचारों के संबंध में, जिसे मैंने अभी-अभी
यूपी के लिए दिनेश लाल यादव करेंगे ये काम

यूपी के लिए दिनेश लाल यादव करेंगे ये काम

भोजपुरी सिनेमा के लोकप्रिय अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ अब अर्थ इनवेस्टमेंट कंपनी 'जादूज' के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश सहित मध्य भारत में 250 मिनी थिएटर बनाएंगे। निरहुआ ने रविवार को यहां बताया कि हर तहसील में एक सिनेमा की परिकल्पना के साथ उतरी 'जादूज' का सपना उत्तर प्रदेश और मध्य भारत में सिनेमा के परिदृश्य को 'अगली पीढ़ी के मिनी-थियेटरों' के निर्माण से बदलने का है। मिनी सिनेमा का उद्देश्य मात्र मनोरंजन नहीं है, बल्कि इसे शिक्षा के साथ भी जोड़ा जाएगा। थिएटर के माध्यम से युवाओं को आईआईटी और आईआईएम से संबंधित शिक्षा भी दी जाएगी। जादूज के प्रबंध निदेशक राहुल नेहरा ने कहा, "हमें निरहुआ जी के साथ जुड़ने पर बहुत गर्व है। उनका उद्देश्य मध्य भारत में मनोरंजन और शिक्षा को आकार देना है।" फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एफएफआई) के महासचिव सुप्रण सेन का कहना है कि इस तरह की पहल से सिनेमा और मनोरंज

सीवान: दरौली की बहू दौड़ा रही पैसेंजर ट्रेन

बिहार के सीवान जिले में पहली बार महिला सहायक लोको पायलट ट्रेन चला रही है। जिस महिला ने इस सफलता को अंजाम दिया है उनका नाम किरण है। रिपोर्ट के मुताबिक किरण दरौली प्रखंड के करोम गांव के शशि रंजन की पत्नी हैं। पति शशि रंजन सेंट्रल बैंक की दरौली शाखा में पदस्थापित हैं। किरण ने यह काम साल 2014 से शुरू किया। किरण की पहली ज्वाइनिंग सिकंदरपुर में हुई। बाद में इसी साल मार्च माह में उसकी पदस्थापना छपरा में हो गई। हालांकि इन दोनों स्थानों पर वह ऑफिस वर्क करती रहीं। 23 जून को उसकी पदस्थापना सीवान में की गई। इसके बाद उसे पैसेंजर ट्रेन परिचालन की जिम्मेवारी मिली। उसके साथ लोकाे पायलट अशोक कुमार जाते हैं। वह सीवान से थावे व थावे से सीवान तक पैसेंजर ट्रेन लेकर जाती है। बता दें कि सीवान से थावे जाने वाली पैसेंजर ट्रेन 55107 सुबह 6:15 बजे व थावे से 55108 सीवान में सुबह 9 बजे अाती है। किरण का कहना
बिहार की किताबों में अब भी मनमोहन सिंह हैं देश के पीएम

बिहार की किताबों में अब भी मनमोहन सिंह हैं देश के पीएम

वैसे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 से पीएम पर बने हुए हैं लेकिन बिहार के स्कूलों में अब भी मनमोहन सिंह को पीएम माना जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बिहार सरकार की ओर से दसवीं कक्षा के लिए अर्थशास्त्र विषय में मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बताया गया है। जानकारी के मुताबिक अर्थशास्त्र विषय के अर्थव्यवस्था एवं इसके विकास का इतिहास चैप्टर के पेज नौ पर अंकित है कि ‘अभी वर्तमान में भारत के योजना आयोग के अध्यक्ष डॉ मनमोहन सिंह हैं। ’ किताब के उपरी हिस्से में बीएसटीबीपीसी-2018 प्रिंट है। बता दें कि हाल ही में बिहार के सरकारी स्कूलों में तीसरी कक्षा के किताब में एक बड़ी गलती सामने आई थी। इसमें राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा को उल्टा छापा दिखाया गया है। दरअसल, कक्षा तीसरी की हिंदी की किताब “पर्यावरण और हम” में इस गलती को नोटिस किया गया है। किताब में तिरंगा को गलत दर्शाया गया है जिसमें ध्वज के श
एक जुलाई को 2 घंटे बंद रहेंगी सभी दवा दुकानें, जानिए क्या है वजह

एक जुलाई को 2 घंटे बंद रहेंगी सभी दवा दुकानें, जानिए क्या है वजह

अगर आप सीवान में हैं तो आपके लिए जरूरी खबर है। दरअसल, अपनी मांगों को लेकर दवा विक्रेता संघ एक जुलाई को दो घंटे तक सभी दवा दुकानों को बंद कर अनिश्चित कालीन हड़ताल को ले जुलूस में शामिल होंगे। जानकारी के मुताबिक एक जुलाई को दवा विक्रेता संघ जिला के सभी दुकानदार साधू मेडिसिन कम्प्लेकक्स से बबुनिया रोड होते हुए समाहरणालय गेट तक जाएंगे तथा जिला पदाधिकारी से मिल कर फार्मासिस्ट समस्या पर लिखित प्रतिवेदन देंगे तथा एक सितंबर से अनिश्चित कालीन हड़ताल के बारे में सूचित करेंगे। एक जुलाई को जुलूस के दौरान जिला के सभी दवा दुकानदार जुलूस में शामिल रहेंगे तथा दवा की दुकान दो घंटे के लिए बंद रखेंगे। जुलूस खत्म होने के बाद दुकानें खोल दी जाएंगी।
चमकी बुखार का असर, लीची के कारोबार को बड़ा नुकसान

चमकी बुखार का असर, लीची के कारोबार को बड़ा नुकसान

देश-दुनिया में चर्चित बिहार के मुजफ्फरपुर की रसभरी लीची इस साल अफवाहों की भेंट चढ़ गई। राज्य के उत्तरी हिस्से में एक्यूट इंसेफलाइटिस बीमारी (एईएस) के लिए लीची को जिम्मेदार बताए जाने के बाद इस साल जहां मीठी लीची 'कड़वाहट' का शिकार हुई, वहीं लीची किसान और व्यापारियों को भी लीची के कारोबार में नुकसान उठाना पड़ा है। बिहार के मुजफ्फरपुर और इसके आसपास के जिलों में एईएस या चमकी बुखार से अबतक 160 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है। एईएस के लिए कई लोग लीची को जिम्मेदार बता रहे हैं। हालांकि मुजफ्फरपुर के चिकित्सक और राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र इसे सही नहीं मानता है। मुजफ्फरपुर स्थित राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र के निदेशक विशाल नाथ कहते हैं कि लीची पूरे देश और दुनिया में सैकड़ों सालों से खाई जा रही है। लेकिन यह बीमारी कुछ सालों से मुजफ्फरपुर में बच्चों में हो रही है। इस बीमारी को लीची से ज
बिहार: सीवान समेत कई जिलों के सदर अस्पतालों में बनेगा डेंगू वार्ड

बिहार: सीवान समेत कई जिलों के सदर अस्पतालों में बनेगा डेंगू वार्ड

बिहार के उत्तरी हिस्सों में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से 160 से ज्यादा बच्चों की मौत से सतर्क स्वास्थ्य विभाग अभी से डेंगू और चिकनगुनिया को लेकर सजग है। इन बीमारियों को लेकर सभी सदर अस्पतालों में पांच-पांच बेड के विशेष डेंगू वार्ड तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य स्वास्थ्य समिति ने जुलाई को 'एंटी डेंगू मंथ' के रूप में मनाने के निर्देश जिलों को जारी किए हैं। अधिकारी ने बताया, "सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों को भी डेंगू से निपटने के लिए डेंगू जांच किट एवं आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ ही मेडिकल, पैरामेडिकल और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को जागरूक करने को कहा गया है।" उल्लेखनीय है कि बरसात के दिनों में राज्य में बीते साल डेंगू और चिकनगुनिया के मामले सामने आए थे। राज्य स्वास्थ्य समिति के मुताबिक, पटना, नालं
”वोट देते हैं नरेंद्र मोदी को, खोजते हैं तेजस्वी को ”

”वोट देते हैं नरेंद्र मोदी को, खोजते हैं तेजस्वी को ”

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की गैरमौजूदगी पर शनिवार को अजीबोगरीब बयान दिया। उन्होंने कहा कि लोग वोट देते हैं नरेंद्र मोदी को और खोजते हैं तेजस्वी को। राजद उपाध्यक्ष रघुवंश से तेजस्वी यादव के 'गायब' होने के संबंध में यहां पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने कहा, "जनता ने जिसे वोट दिया, उसे ही खोजे। तेजस्वी को क्यों खोजा जा रहा है? पूछा जा रहा है कि तेजस्वी मुजफ्फरपुर क्यों नहीं गए?" उन्होंने अपने अंदाज में कहा, "मैं पूछता हूं कि आप प्रधानमंत्री को क्यों नहीं खोजते, जिन्हें आपने अपना कीमती वोट दिया। मुजफ्फरपुर में इतने बच्चों की मौत के बाद भी प्रधानमंत्री अब तक नहीं आए। बिहार की जनता ने नरेंद्र मोदी को वोट दिया। ऐसे में जनता उन्हें क्यों नहीं खोजती।" उन्होंने विपक्ष के नेता की जिम्मेदार

पुणे में दीवार ढही और एक झटके में बिहार के 15 मजदूर लाश बन गए

पुणे के कोंडवा क्षेत्र में शनिवार को एक इमारत के अहाते की दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए। बिहार के 15 मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई है। इनमें कटिहार के 13 तथा सारण के दो मजदूर शामिल थे। इस घटना की सूचना मिलते ही कटिहार जिले के बलरामपुर थाना क्षेत्र के बघार गांव में कोहराम मचा है। बताया जा रहा है कि पुणे में बारिश और भूस्खलन से सभी मजदूरों की मौत हो गयी। बिहार के सभी मृतकों के शवों को महाराष्ट्र से कटिहार व सारण लाने की तैयारी की जा रही है। महाराष्ट्र के राज्यपाल सी.वी. राव ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि मृत प्रत्येक व्यक्ति का जीवन अनमोल था। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। पुणे पुलिस ने त्रासदी के लिए जिम्मेदार एक दर्जन के करीब लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं, जिनमें कंचन बिल्डर्स, अल्कॉन स्टाइलस के शीर्ष अधिकारियों, उनके इंजीनि
जब राबड़ी देवी ने पत्रकारों से कहा—तेजस्वी आपके घर में है

जब राबड़ी देवी ने पत्रकारों से कहा—तेजस्वी आपके घर में है

बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र के पहले दिन शुक्रवार को विधानसभा में विपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव भाग लेने नहीं पहुंचे। इस संबंध में जब उनकी मां और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से पूछा गया तो वह पत्रकारों पर ही झल्ला उठी। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि तेजस्वी आपके ही घर में हैं। राबड़ी देवी विधान परिषद की कार्यवाही में शामिल होने पहुंची, तब राजद के सदस्यों ने उनका स्वागत किया। इस दौरान पत्रकारो ने जब राबड़ी देवी से तेजस्वी यादव के संबंध में पूछा तो उन्होंने झल्लाते हुए कहा, "तेजस्वी आपके ही घर में हैं।" इधर, राजद विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि राजद नेतृत्वविहीन नहीं है। उन्होंने कहा, "वे नहीं होंगे तो उनकी जगह कोई और संभालेगा।" उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि जल्द ही तेजस्वी यादव आएंगे। उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में राजद को मिली करारी हार के बाद 29 मई
error: Content is protected !!