townaajtak@gmail.com

Month: December 2018

बिहार में कारोबारियों को सुरक्षा देगी नीतीश सरकार!

बिहार में कारोबारियों को सुरक्षा देगी नीतीश सरकार!

बीते कुछ दिनों से बिहार में लगातार कारोबारियों की हत्या की खबरें आ रही हैं। इन खबरों के बीच अब नीतीश सरकार ने कारोबारियों को सुरक्षा देने के लिए अहम फैसला लिया है। दरअसल, बिहार सरकार ने औद्योगिक सुरक्षा बटालियन का गठन करने का एलान किया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को एक कार्यक्रम में व्यापारियों की सुरक्षा को लेकर बिहार में जल्द सीआईएसएफ की तर्ज पर औद्योगिक सुरक्षा बल के गठन की घोषणा की। उन्होंने कहा कि जो उद्योगपति व्यक्तिगत सुरक्षा चाहते हैं, उसके लिए आईजी (सुरक्षा) की अध्यक्षता में एक कमेटी बनायी गयी है, जो तमाम चीजों का आकलन करके ही सुरक्षा देती है। यह कमेटी इस बात की जांच करेगी कि किसे सुरक्षा दी जाये, किसे नहीं। उन्होंने कहा कि बिहार औद्योगिक सुरक्षा बल (बीआईएसएफ) के दो बटालियन का गठन बेगूसराय और डुमरांव में किया जायेगा. इसके लिए पद स्वीकृत कर दिये गये हैं। चयन पर्षद
बीजेपी के बागी शत्रुघ्न सिन्हा अब VIP नहीं रहे

बीजेपी के बागी शत्रुघ्न सिन्हा अब VIP नहीं रहे

लगता है कि अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा को बीजेपी से बगावत की सजा मिली है। दरअसल, उन्हें पटना हवाई अड्डे पर अब अति विशिष्ट व्यक्ति के रूप में सुरक्षा जांच से छूट नहीं मिलेगी। इस संबंध में पटना स्थित जयप्रकाश नारायण हवाई अड्डे के निदेशक राजेंद्र सिंह लाहौरिया ने जानकारी दी। अब तक अपना वाहन अंदर तक लाने के अलावा जांच से छूट प्राप्त थी। लाहौरिया के मुताबिक सिन्हा को एक अवधि के लिए ये सुविधाएं प्राप्त थीं, जो इस साल जून में समाप्त हो गयी. उस अवधि को बढ़ाने के लिए कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ। ''वह पूर्व केंद्रीय मंत्री को दी जा रही सुविधाओं के बारे में पूछे गये सवाल का जवाब दे रहे थे। बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा लोकसभा में पटना साहिब सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह पिछले कुछ समय से केंद्र की मोदी सरकार और वर्तमान भाजपा नेतृत्व की कड़ी आलोचना कर रहे हैं। ऐसी अटकलें है कि यदि भाजपा पट
नए साल पर मोदी सरकार का तोहफा, सिलेंडर हुआ सस्ता

नए साल पर मोदी सरकार का तोहफा, सिलेंडर हुआ सस्ता

नए साल पर मोदी सरकार ने देशवासियों को तोहफा दिया है. सरकार ने गैस सिलेंडर की कीमत में कटौती करने का फैसला लिया है, जिससे जनता को बड़ी राहत मिलेगी. सरकार का यह फैसला 1 जनवरी 2019 से लागू हो जाएगा. गैर-सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत में 120.50 रुपये की कटौती की गई है. यह सिलेंडर अब तक 809.50 रुपये में मिल रहा है, जो घटकर 689 रुपये हो गया है. वहीं, सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम भी घटाए गए हैं. सब्सिडी वाला सिलेंडर 5.91 रुपये सस्ता किया गया है. अब तक सब्सिडी वाले एक सिलेंडर की कीमत 500.90 थी, जो घटकर 494.99 रुपये हो गई है. न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, देश की दूसरी सबसे बड़ी खुदरा ईंधन कंपनी इंडियन आयल कारपोरेशन (आईओसी) ने एक बयान में कहा कि 14.2 किलो के सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर की कीमत आज आधी रात के बाद से 494.99 रुपये हो जाएगी. फिलहाल इसकी लागत 500.90 रुपये प्रति सिलेंडर है. इ

नए साल में हर व्यक्ति पर 62 हजार रुपये का है कर्ज, जानिए कैसे

  नए साल की शुरुआत हो चुकी है. नए साल में हर किसी की यही कोशिश होगी कि वह फाइनेंशियल तौर पर मजबूत हो लेकिन यह जानकर हैरानी होगी कि भारत के हर व्यक्ति पर औसतन 62 हजार रुपये से ज्‍यादा का कर्ज है. यह कर्ज कैसे और क्‍यों है, इसका गणित हम आपको समझाते हैं. दरअसल, हाल ही में वित्‍त मंत्रालय के सरकार कर्ज प्रबंधन ने तिमाही रिपोर्ट दी है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि सरकार का कुल कर्ज सितंबर के अंत तक बढ़कर 82 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है. देश की 134 करोड़ की आबादी के हिसाब से गणना करें तो हर नागरिक पर करीब 62 हजार रुपये का कर्ज है. रिपोर्ट के मुताबिक इसी साल जून के अंत तक सरकार पर यह कर्ज 79.8 लाख करोड़ रुपये था. वहीं तब इसी आबादी के अनुसार आप पर कर्ज 59 हजार 552 रुपये था. यानी सिर्फ तीन महीनों में आप पर 2,448 रुपये का कर्ज बढ़ा है. वहीं सरकार पर इन तीन महीने में 2.2 लाख करोड़ रुपये
बिहार के दीपक ठाकुर पिछड़े, दीपिका विजेता बन गईं!

बिहार के दीपक ठाकुर पिछड़े, दीपिका विजेता बन गईं!

रविवार की रात टीवी दुनिया के सबसे चर्चित शो बिग बॉस 12 के विजेता के नाम का ऐलान हो गया। टेलीविजन एक्टर दीपिका कक्कड़ रियलिटी शो बिग बॉस 12 फ़िनाले की विजेता रहीं।उन्होंने बेहद कड़े मुक़ाबले में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सदस्य रहे एस श्रीसंत और बिहार के युवा सिंगर दीपक ठाकुर को हराया। तीसरे नंबर पर रहे मुजफ्फरपुर के दीपक ठाकुर आखिरी मौके पर 20 लाख रुपये की रकम लेकर शो से अलग हो गए। दीपक ठाकुर की खूब हुई तारीफ बिग बॉस शो के दौरान दीपक ठाकुर के खेल और कॉमेडी पंचों की खूब तारीफ हुई। इस दौरान उनका एक अन्य कंटेस्टेंट सोमी खान के साथ एकतरफा प्यार का किस्सा भी चला। बता दें कि दीपक ठाकुर ने अनुराग कश्यप की मशहूर फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर-1’ में ‘हम्नी के छोडी के’ और गैंग्स ऑफ वासेपुर-2 में ‘मूरा’ गाना गाया है। इसके अलावा वो फिल्म मुक्काबाज़ के लिए ‘अधूरा मैं’ गाना भी गाया हैं। कहां के
सीवान : किसानों के लिए मुखर हुई विवेक शुक्ला की आवाज

सीवान : किसानों के लिए मुखर हुई विवेक शुक्ला की आवाज

लंबे समय से सीवान की सियासत में किसानों के मुद्दे पर एक सन्नाटा सा रहा है। लेकिन बीते कुछ समय से जिले के जेडीयू नेता विवेक शुक्ला किेसानों की समस्याओं को सुन भी रहे हैं और समस्याओं के निदान के लिए सरकार से बात भी कर रहे हैं। इसी क्रम में विवेक शुक्ला ने रविवार को जिला के नौतन प्रखंड के गंभीरपुर और अगौता पंचायत के किसानो के साथ उनकी समस्याओं पर बात की। इस संबंध में उन्होंने जिलाधिकारी के अलावा कृषि मंत्री डॉक्टर प्रेम कुमार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र भी लिखा है। इस पत्र में किसानों का हस्ताक्षर भी है। क्या लिखा है पत्र में पत्र में लिखा गया है कि नौतन प्रखंड के गंभीरपुर और अगौता पंचायत के किसानों को डीजल एवं इनपुट अनुदान की राशि को कृषि समन्वयक बेचन भगत द्वारा सही ढंग से भुगतान नहीं किया गया। इस संबंध में उन्होंने जिलाधिकारी से जांच की मांग की है। ये है पत्र...
शर्मनाक: अस्पताल ने मरीज को कचरे पर फेंका, तेजस्वी ने पूछा- बिहार में कौन सा राज है?

शर्मनाक: अस्पताल ने मरीज को कचरे पर फेंका, तेजस्वी ने पूछा- बिहार में कौन सा राज है?

बिहार के अस्‍पतालों की चर्चा कभी मरीजों को चूहे काटने की वजह से होती है तो कभी कुत्‍ते नवजात को निवाला बनाते हैं। वहीं एक मामले में तो मरीज की टूटी हुई टांग कुत्ता लेकर भाग गया था लेकिन हाजीपुर सदर अस्‍पताल का जो ताजा मामला सामने आया है उसने अमानवीयता की सारी हदें पार कर दी है। दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट के मुताबिक हाजीपुर सदर अस्‍पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती एक मरीज को वॉर्ड ब्वॉय ने कचरे के ढ़ेर पर फेंक दिया। अब अस्‍पताल प्रबंधन ने घटना की जांच की बात कही है। उधर, बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने सुशासन पर सवाल खड़े किए हैं। मरीज को मरने के लिए कचरे में फेंका जानकारी के अनुसार आग से झुलसे एक अज्ञात युवक को लालगंज रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से डॉक्टरों ने उसे हाजीपुर सदर अस्पताल रेफर कर दिया। लेकिन, अस्‍पताल में बेहतर इलाज के बदले उसे कचरे पर म
सबसे सस्ता हुआ पेट्रोल, नए साल में अभी और मिलेगा सरप्राइज

सबसे सस्ता हुआ पेट्रोल, नए साल में अभी और मिलेगा सरप्राइज

नए साल से पहले पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट का दौर जारी है। पेट्रोलियम कंपनियों ने रविवार को पेट्रोल के दाम में 22 पैसे की कटौती की। जिससे पेट्रोल 2018 में सबसे निम्न स्तर पर आ गया है जबकि डीजल की कीमतें 23 पैसे कम होकर नौ महीने के निम्नतम स्तर पर आ गयी हैं। दिल्ली में पेट्रोल दिल्ली में पेट्रोल 69.26 रुपये से घटकर 69.04 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल 63.32 रुपये से 63.09 रुपये प्रति लीटर पर आ गया है। सिर्फ एक दिन को छोड़कर पेट्रोल की कीमतों में 18 अक्टूबर से लगातार गिरावट जारी है और अब यह 2018 के सबसे निम्न स्तर पर आ गया है। डीजल मार्च के बाद निम्नतम स्तर पर है। पेट्रोल 18 अक्टूबर से लेकर अब तक 13.79 रुपये सस्ता हुआ जबकि इन ढाई महीनों में डीजल 12.06 रुपये गिरा है। चार अक्टूबर को पेट्रोल दिल्ली में 84 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 91.34 रुपये प्रति लीटर के सर्वाधिक उच्च स्तर पर
अलविदा 2018: आरोपों से घिरे रहे सीवान सांसद, खुल कर दिखी बीजेपी की दरार!

अलविदा 2018: आरोपों से घिरे रहे सीवान सांसद, खुल कर दिखी बीजेपी की दरार!

लेखक सुधीर कुमार से जानिए 2018 का साल सीवान एनडीए के लिए कैसा रहा... साल 2018 आखिरी दौर में चल रहा है। यह साल सीवान बीजेपी के लिहाज से कई मायनों में मुश्किल भरा रहा। जहां सीवान के बीजेपी सांसद ओमप्रकाश यादव पर पार्टी के भीतर से ही कई आरोप लगे तो वहीं बीजेपी के जिलाध्यक्ष मनोज सिंह ने भी उनके विकास कार्य पर सवाल खड़े किए। सीवान सांसद के लिए कैसा रहा साल यह साल एक बार फिर सीवान के सांसद ओमप्रकाश यादव के लिए मुश्किलों भरा रहा। इस साल उन पर पार्टी के भीतर से ही कई आरोप लगे। सीवान के बीजेपी समर्थित एमएलसी टुन्ना जी पांडे पूरे साल सांसद पर हमलावर रहे। उन्होंने एक मामले में जिला सांसद पर दुष्कर्मी को बचाने का आरोप लगाया तो कई हत्याओं का दोषी भी माना। यह पहली बार है जब बीजेपी समर्थिक कोई नेता खुलकर अपनी ही पार्टी के सीवान सांसद के खिलाफ बोलने लगा। यही नहीं, टुन्ना जी ने सीवान सांसद समर्
कोटा में बिहार-यूपी के छात्र क्यों कर रहे हैं आत्महत्या?

कोटा में बिहार-यूपी के छात्र क्यों कर रहे हैं आत्महत्या?

कोई स्तब्ध है और कोई शोकमग्न, राजस्थान के कोटा में पिछले 10 दिन में कोचिंग ले रहे तीन छात्रों ने ख़ुदकुशी कर ली। इनमें एक छात्र बिहार के सीवान जिले का है तो एक छात्रा यूपी के कुशीनगर की है। कोटा में जनवरी से अब तक कोचिंग संस्थानों में तैयारी कर रहे 16 से ज्यादा छात्र-छात्राएं आत्महत्या कर चुके हैं। इनमें से अधिकतर बिहार या यूपी के हैं। लेकिन आइए समझते हैं, इन आत्महत्याओं की वजह क्या है। कोटा का कारोबार कोटा में कोचिंग इंडस्ट्री लगभग ढाई दशक पुरानी है। किसी समय में कोटा बड़े कल-कारखानों और धुआं निकालती फैक्ट्रियों की चिमनियों के लिए जाना जाता था। मगर जब इन कारखानों में मंदी आई और मशीनें बेजान हो गई तो कोचिंग इंडस्ट्री का कारोबार बढ़ा। अब कोटा में कोचिंग संस्थानों की बहार है। कमोबेश हर राज्य के छात्र-छात्राओं की उपस्थिति कोटा में एक मुकम्मल भारत की तस्वीर प्रस्तुत करती है। जानकर कहते हैं
error: Content is protected !!