townaajtak@gmail.com

Month: November 2018

तेजप्रताप के तलाक मामले की पहली सुनवाई आज, वापस ले सकते हैं अर्जी

तेजप्रताप के तलाक मामले की पहली सुनवाई आज, वापस ले सकते हैं अर्जी

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की तलाक की अर्जी पर आज यानी गुरुवार को सुनवाई होनी है। पटना के फैमिली कोर्ट में दायर इस मामले की सुनवाई के दौरान तेज प्रताप यादव के रहने की भी संभावना है। वहीं मीडिया में यह भी खबर चल रही है कि तेजप्रताप अपनी अर्जी को वापस ले सकते हैं। पिछले 27 दिनों से पटना के बाहर रह रहे तेज प्रताप मुकदमे की सुनवाई के लिए वृंदावन से दिल्ली होकर पटना पहुंच सकते हैं। दूसरी तरफ, ऐश्वर्या और उनके माता-पिता ने फिलहाल तक इस मामले पर चुप्पी साध रखी है। आज कोर्ट में इस मामले की पहली सुनवाई है, इसलिए उम्मीद कम है कि ऐश्वर्या के परिवार का कोई कोर्ट में आएगा। दोहे के जरिए किया था दर्द बयां तेज प्रताप ने बीते दिनों सोशल मीडिया पर दोहे के जरिए अपने मन की स्थिति बताई थी. उन्होंने 23 नवंबर को सोशल मीडिया पर रहीम के दोहे की एक पंक्ति
JDU विधायक पप्पू पांडे पर रंगदारी मांगने का आरोप, तेजस्वी बोले-नीतीश के बाहुबली

JDU विधायक पप्पू पांडे पर रंगदारी मांगने का आरोप, तेजस्वी बोले-नीतीश के बाहुबली

गोपालगंज के जेडीयू विधायक अमरेंद्र कुमार उर्फ पप्पू पांडे एक बार फिर विवादों में हैं। इस बार उन पर 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगने का आरोप है। वहीं इस मामले में राजद नेता और लालू के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने कार्रवाई की मांग की है। यह है मामला पप्पू पांडे पर एक कंस्ट्रक्‍शन कंपनी के कार्यकारी निदेशक अखिलेश कुमार जायसवाल से 50 लाख रुपये रंगदारी मांगने के आरोप में एफआइआर दर्ज करने के लिए पुलिस को आवेदन दिया है। जायसवाल के अनुसार विधायक ने रुपये नहीं मिलने पर जान से मारने की धमकी भी दी है। घर पर बुलाकर मांगे 50 लाख पटना के कोतवाली थाने के नजदीक उदय गिरि अपार्टमेंट के निवासी व साज इंफ्राकॉन प्रोजेक्ट सड़क निर्माण कंपनी के कार्यकारी निदेशक अखिलेश कुमार जायसवाल ने आरोप लगाया है कि विधायक ने उन्‍हें शास्त्री नगर स्थित एमएलए फ्लैट संख्या 81/40 पर बुलाकर गोपालगंज में सड़क निर्माण का काम शु

बेशर्म स्कूल, पढ़ाई की बजाए बच्चों से कटवाते हैं धान…

स्कूलों की मनमानी के अकसर किस्से आते रहते हैं। ताजा मामला झारखंड के बेड़ो प्रखंड के दीघिया (कुदराखो) गांव का है। यहां एक स्कूल है, स्कूल का नाम है— संत अन्ना गर्ल्स हाई स्कूल। इस स्कूल ने नौवीं क्लास की छात्राओं से पढ़ाने की बजाए धान की फसल कटवाया। मामला उजागर होने के बाद स्कूल की प्रभारी प्रधानाध्यापिका सिस्टर मेरी बागे ने बताया कि 24 नवंबर को कक्षा नवम की 50 छात्राओं को स्कूल में छुट्टी होने बाद दो किलोमीटर दूर कुदरखो नदी के समीप एक खेत में आधे घंटे के लिए एसयूपीडब्ल्यू (सोशली यूजफुल प्रोडक्टिव वर्क) विषय के तहत मजदूरों के साथ धान की फसल कटवाई गई थी। जबकि ग्रामीणों ने कहा कि वहां कोई मजदूर नहीं था। एक और स्कूल का मामला ऐसा ही एक मामला तमाड़ प्रखंड क्षेत्र के विजयगिरी स्थित संत इग्नोशिस हाइस्कूल में आया। इस स्कूल की छात्राओं से फादर जॉन छुट्टी के बाद धान कटवा रहे थे। विधायक विक
मुजफ्फरपुर मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, बिहार सरकार का रवैया शर्मनाक है!

मुजफ्फरपुर मामला: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, बिहार सरकार का रवैया शर्मनाक है!

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में सुप्रीम कोर्ट की तल्खी बरकरार है। कोर्ट ने मंगलवार को बिहार सरकार और पुलिस के रवैये को शर्मनाक बताया था। अब शेल्टर होम से जुड़े सभी 17 मामलों को सीबीआई के हवाले कर दिया है। क्या कहा कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट ने इन मामलों पर सुनवाई करते हुए कहा कि बिहार पुलिस अपना काम नहीं कर रही है। कोर्ट ने बिहार सरकार की उस मांग को ठुकरा दिया, जिसमें उसने जवाब दाखिल करने लिए और समय की मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि सीबीआई सभी मामलों की जांच के लिए तैयार है। अब सीबीआई ही शेल्टर होम से जुड़े सभी मामलों की जांच करेगी. हालांकि, मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड की जांच पहले से ही सीबीआई कर रही है। बिहार सरकार ने मांगा एक और मौका मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में बिहार सरकार ने कहा कि आज आदेश जारी मत कीजिये, हमें एक मौका दीजिए। हमें एक हफ्ते का वक्त दिया जा
सीवान : दरोगा साहब, केस डायरी लिख रहे थे तभी सीने में दर्द हुआ और मौत हो गई!

सीवान : दरोगा साहब, केस डायरी लिख रहे थे तभी सीने में दर्द हुआ और मौत हो गई!

सीवान के टाउन थाने में मंगलवार को माहौल बेहद गमगीन भरा था। असल में थाने में तैनात दारोगा 54 साल के श्रीकांत सिंह की मौत हो गई। मौत की खबर मिलते ही पुलिसकर्मियों में शोक की लहर दौड़ पड़ी। क्या हुआ था उन्हें जानकारी के मुताबिक सुबह करीब 10 बजे एसआई श्रीकांत सिंह पुलिस लाइन में केस डायरी लिख रहे थे। इसी दौरान उनके सीने में तेज दर्द हुआ। सहकर्मी उन्हें लेकर सदर अस्पताल पहुंचे। जहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने उनका इलाज किया। लेकिन, थोड़ी ही देर बाद उन्हें फिर से दौरा पड़ा। जिससे उनकी मौत हो गई। श्रीकांत सिंह के अस्पताल में भर्ती होने की खबर मिलते आनन-फानन में एसपी नवीनचंद्र झा भी सदर अस्पताल पहुंचे। नालंदा के रहने वाले श्रीकांत सिंह मूलरूप से नालंदा जिले के इस्लामपुर स्थित कोबिल के स्व. भूषम सिंह के पुत्र थे। उनके परिवार में दो पुत्र व दो पुत्री के अलावा पत्नी हैं। एसआई के परिजनो
भोजपुरी गायकों पर क्यों हो रहे हैं हमले?

भोजपुरी गायकों पर क्यों हो रहे हैं हमले?

''काल हमार शो रहे, कुछ खबर अईसन आईल कि हमरा शो में भगदड़ हो गईल। इ सब फेक न्यूज ह भाई, हर कार्यक्रम में भगदड़ काहें होई। इ सब झूठ न्यूज ह, फेक न्यूज है। कुछ लोग आपन चैनल चलावे खातिर कुछ भी न्यूज डाल देता। '' ये बातें भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव ने 20 नवंबर को फेसबुक पर लाइव आकर कही। खेसारी के फेसबुक लाइव के हफ्ते भर के भीतर उनके एक कार्यक्रम में पथराव हो गया।  ये न्यूज फेक नहीं बल्कि वास्तविक है। पथराव ऐसा कि विधायक जी को भागना पड़ा! खेसारी के जिस कार्यक्रम में पथराव हुआ वो उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में था। जिले के जहांगीराबाद स्थित रमता राम चतुर्भुजी की तपोस्थली पर आयोजित रामपुर महोत्सव में बीते सोमवार रात जमकर ईंट-पत्थर चले। बेकाबू भीड़ ने बैरिकेडिंग और कुर्सियां तोड़ डालीं, बल्लियां उखाड़ डालीं। इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाठिया
भारी स्कूल बैग और होमवर्क से बच्चों को मिलेगी ‘आज़ादी’, ये हैं नए नियम

भारी स्कूल बैग और होमवर्क से बच्चों को मिलेगी ‘आज़ादी’, ये हैं नए नियम

अब बच्चों को भारी स्कूल बैग को अपने कंधों पर लादने की जरूरत नहीं पड़ेगी। बच्चों के स्कूल बैग के वजन को कम करने के लिए सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। इसमे क्लास 1 से क्लास 10वीं तक के छात्रों को बड़ी राहत मिली है। इसके साथ ही सरकार ने क्लास 1 और 2 के बच्चों को होमवर्क नहीं देने के लिए भी आदेश जारी किया है। बता दें कि स्कूली बस्तों के भारी भरकम वजन की वजह से बच्चों की कमर पर बुरा असर पड़ रहा था। बच्चों की सेहत के मद्देनजर सरकार ने नई गाइडलाइन जारी कर दी है। कितना होगा बच्चों के बैग का वजन पहली क्लास से दूसरी क्लास: बैग का वजन 1.5 किलोग्राम होना चाहिए। तीसरी क्लास से चौथी क्लास: बैग का वजन 2 किलोग्राम से 3 किलोग्राम तक। छठी क्लास से सातवी क्लास: बैग का वजन 4 किलोग्राम तक। आठवीं क्लास से नौंवी क्लास: बैग का वजन 4.5 किलोग्राम तक। दसवीं क्लास: बैग का वजन 5 किलोग्राम तक होना
अयोध्या बुलाने वाले युवा का हाल गुजरात दंगों के पोस्टर ब्वॉय जैसा न हो जाए!

अयोध्या बुलाने वाले युवा का हाल गुजरात दंगों के पोस्टर ब्वॉय जैसा न हो जाए!

बीते 24 नवंबर और 25 नवंबर को अयोध्या में राम मंदिर को लेकर जो कुछ भी हुआ उस पर टाउन आजतक ने एक भी खबर नहीं लगाई। दरअसल, सियासत के जरिए तनाव का जो माहौल बनाने की तैयारी हो रही है उसके हम भागीदार नहीं बनना चाहते हैं। लेकिन आज हम उस शख्स की चर्चा जरूर करेंगे जो ट्रेन के संभवत: जनरल डिब्बे से हमें और आपको अयोध्या चलने के लिए प्रेरित कर रहा है। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रही है । तस्वीर में ट्रेन की खिड़की से झांकता युवा बाएं हाथ में एक भगवा झंडा थामा हुआ है। दाहिने हाथ में है एक पोस्टर, जिस पर बने हैं भगवान राम। हाथ में धनुष ताने, प्रत्यंचा चढ़ाए। कंधे पर तीरों से भरा तरकश। कमर में बंधा भगवा मानो हवा में फहरा रहा है। इस पोस्टर पर लिखा है-चलो अयोध्या। यह शख्स कौन है ये तो अभी पता नहीं चल सका है लेकिन इस शख्स की वायरल हो रही तस्वीर को देखकर आपको 2002 के दंगों का पोस्टर बॉय याद आ जाए
मनोज सिंह ने बता दिया है, सीवान लोकसभा सीट किसके खाते में है..

मनोज सिंह ने बता दिया है, सीवान लोकसभा सीट किसके खाते में है..

वैसे तो लोकसभा चुनाव में अभी 4 महीने से ज्यादा का समय बचा है लेकिन चुनाव से पहले राजनीतिक गर्मी बढ़ गई है। बिहार में भी इस गर्मी का अहसास हो रहा है। बिहार में एनडीए और महागठबंधन के बीच सीटों की माथापच्ची चल रही है। भाजपा और जेडीयू महागठबंधन ने सीटों का फॉर्मूला तो तय कर लिया है लेकिन अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि कौन सी पार्टी किस लोकसभा सीट पर लड़ेगी। हालांकि सीवान लोकसभा सीट को लेकर एक बड़ा बयान सामने आया है। इस बयान के जरिए सीवान लोकसभा सीट किसके खाते में जाएगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।   क्या कहा मनोज सिंह ने हाल ही में मनोज सिंह ने रघुनाथपुर विधानसभा क्षेत्र के पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। कार्यकर्ताओं के साथ अगले लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा करते हुए कहा कि सीवान संसदीय क्षेत्र से बीजेपी ही लोकसभा की चुनाव लड़ेगी। कार्यकर्ताओं को लोकसभा चुनाव की तैयारि
महागठबंधन के मांझी ने बताया- कहां से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

महागठबंधन के मांझी ने बताया- कहां से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

बिहार के महागठबंध में शामिल पूर्व मुख्य मंत्री जीतन राम मांझी ने इशारों में ही सही, अपनी सीट का एलान कर दिया है। उन्होंने यह बता दिया है कि वह कहां से 2019 में चुनाव लड़ेंगे। जी हां, पूर्व सीएम और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने सीमांचल के पूर्णिया लोकसभा सीट के लिए दावेदारी पेश की है। वर्तमान में पूर्णिया से संतोष कुशवाहा सांसद हैं। संतोष कुशवाहा जेडीयू सांसद हैं। क्या कहा मांझी ने मांझी ने एक इंटरव्यू के दौरान बातों- बातों में महागठबंधन की ओर से अपनी दावेदारी पेश करने के प्रतीकात्मक सन्देश दे डाले। उन्होंने कहा कि पूर्णिया लोकसभा में 6 लाख से ज्यादा एससी वोट हैं इसका बहुत बड़ा फायदा हमें मिलेगा। हम का तर्क है कि जिले से कांग्रेस व राजद दोनों ही पार्टियों को बीते चुनाव में टिकट दिया जा चुका है. लेकिन दोनों ही पार्टियों को लोकसभा चुनावों के दौरान हार मिली थी।  इससे पहले
error: Content is protected !!