townaajtak@gmail.com

Month: October 2018

राजदेव रंजन हत्याकांड में भी बढ़ सकती है शहाबुद्दीन की मुश्किलें

राजदेव रंजन हत्याकांड में भी बढ़ सकती है शहाबुद्दीन की मुश्किलें

सीवान के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा झटका दिया है और उनकी आजीवन कारावास की सजा को बरकरार रखा है। अब पत्रकार राजदेव रंजन मामले में भी शहाबुद्दीन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल, राजदेव रंजन हत्याकांड में पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन समेत आठ आरोपितों पर आरोप गठन के लिए 16 नवंबर को सुनवाई होगी। यह आदेश बुधवार को केस की सुनवाई के दौरान एडीजे नौ वीरेंद्र कुमार ने दिया। सीबीआई की ओर से कोर्ट को एक अर्जी सौंपी गई सुनवाई के दौरान सीबीआई की ओर से कोर्ट को एक अर्जी सौंपी गई। इसमें कहा कि सीबीआई के लोक अभियोजक किसी कारणवश दूसरे राज्य में हैं। इसलिए बुधवार को वह कोर्ट में उपस्थित नहीं हो सके। इस दौरान पूर्व सांसद के अधिवक्ता दिलीप कुमार सिंह व लड्डन मियां के अधिवक्ता शरद कुमार सिन्हा मौजूद थे। आरोप गठन के बाद आरोपितों पर ट्रायल चलाये जाने का रास्ता साफ हो
खेसारी पर हमला: बिहार बंद का दिखा असर, राजनाथ सिंह तक पहुंचा मामला

खेसारी पर हमला: बिहार बंद का दिखा असर, राजनाथ सिंह तक पहुंचा मामला

भोजपुरी के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव पर जानलेवा हमले का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। आज यानी 31 अक्टूबर को ​खेसारी के समर्थकों ने बिहार बंद किया है तो वहीं दूसरी ओर यह मामला अब देश के गृ​हमंत्री राजनाथ सिंह तक पहुंच गया है। दरअसल, केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामकृपाल यादव के पुत्र सह युवा नेता अभिमन्यु यादव ने राजनाथ सिंह से मुलाकात कर इन सितारों की सुरक्षा की मांग की है। अभिमन्यु ने बताया — राजनाथ सिंह जी से आज दिल्ली स्थित उनके आवास पर मिलकर बिहार में कलाकारों के ऊपर हो रहे हिंसक हमलों की जानकारी दी। इसके अलावा कलाकारों को पुख्ता सुरक्षा दी जाए इसके लिए ज्ञापन सौंपा। अभिमन्यु ने आगे कहा कि पिछले कुछ सालों में चाहे खेसारी लाल यादव जी हों या पवन सिंह जी या रितेश पाण्डेय जी, सिर्फ ये ही नहीं बल्कि इनके अलावे अन्य कई कलाकार भी भीड़ की हिंसक प्रवृत्ति का शिकार बन चुके हैं। इस
शहाबुद्दीन की सजा पर बोेलीं हीना शहाब-हार नहीं मानूंगी

शहाबुद्दीन की सजा पर बोेलीं हीना शहाब-हार नहीं मानूंगी

सीवान के चर्चित तेजाब कांड में पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। दरअसल, कोर्ट ने चंदा बाबू के बेटों की हत्या मामले में शहाबुद्दीन की उम्रकैद की सजा को बरकरार रखा है। कोर्ट ने इस मामले में पटना हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए शहाबुद्दीन की हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील खारिज कर दी है। वहीं इस मामले पर शहाबुद्दीन की पत्नी हीना शहाब ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने इशारों में ही कहा है कि वह हार नहीं मानेंगी और एक बार फिर अपील करेंगी। क्या कहा हीना शहाब ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हुए हिना शहाब ने समर्थकों से संयम बरतने की अपील की। उन्होंने कहा कि इस मामले में फिर से समर्थकों के साथ मिलकर फाइट करेंगी। कोर्ट के फैसले का सम्मान करती हैैं। हालांकि किसी भी कोर्ट का फैसला किसी मामले का अंतिम फैसला नहीं होता है। हीना शहाब के मुताबिक उन्
आखिर किस बात को लेकर इंदिरा गांधी के दोनों बेटों में हो गई थी लड़ाई, सोनिया को भी सुननी पड़ी थी बात?

आखिर किस बात को लेकर इंदिरा गांधी के दोनों बेटों में हो गई थी लड़ाई, सोनिया को भी सुननी पड़ी थी बात?

भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्‍या को आज 34 साल पूरे हो गए हैं। इंदिरा गांधी केी पुण्यतिथि पर पढ़िए उनके परिवार से जुड़ी एक दिलचस्प कहानी... साल 1971 की बात है प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बड़े बेटे राजीव गांधी जहां अपनी फ्लाइंग में बिजी थे वहीं उनके छोटे भाई संजय गांधी मारुति कार बनाने की असफल कोशिश में हर जोड़ तोड़ के साथ लगे हुए थे। राजीव गांधी जहां बेहद सौम्य और विनम्र स्वाभाव के रिश्तों के प्रति ईमानदार व्यक्ति थे वहीं इसके उलट संजय गांधी बेहद अहंकारी, हठी, अपने गलत बातों पर भी अड़े रहने वाले बेहद जिद्दी और अपरिपक्व इंसान थे। काम से लेकर उनके निजी रिश्तों तक में यह अहंकार और दंभ नजर आता था। साल 1972 की बात है जब मारुति के असफल मॉडल और तकनीक को लेकर वो विपक्ष के निशाने पर थे और अपने हर फैसले से अपनी मां (पीएम इंदिरा) गांधी की परेशानी बढ़ा रहे थे तो वहीं दूसर

मुफ्त में पढ़ाने से किया इंकार तो छात्रों ने कोचिंग संचालक को पीटा

पटना के कंकड़बाग इलाके में मंगलवार को एक अजीबोगरीब घटना घटी जहां कुछ छात्रों ने एक कोचिंग संचालक हो इसलिए पीट दिया क्योंकि उन्होंने उन सभी को मुफ्त में पढ़ाने से इनकार कर दिया. संतोष कुमार राजधानी के पीरबहोर इलाके में कोचिंग संस्था चलाते हैं और मंगलवार को कंकड़बाग में स्थित अपने घर से इंस्टीट्यूट जा रहे थे उसी दौरान रास्ते में कुछ छात्रों ने उन्हें रोका और रोड लाठियों से हमला कर दिया. इस घटना में कोचिंग संचालक बुरी तरीके से घायल हो गए. मामले में संतोष कुमार ने 2 छात्रों के खिलाफ नामजद तथा 10 अज्ञात के खिलाफ कंकड़बाग थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है. संतोष कुमार ने बताया कि सोमवार शाम कुछ छात्र उनसे मिलने आए थे और उनसे मुफ्त में कोचिंग करवाने की मांग करने लगे. जब संतोष कुमार ने इसका विरोध किया तो उन्होंने उन्हें देख लेने की धमकी देते हुए चले गए. अगले ही दिन जब संतोष अपने घर से न
मुजफ्फरपुर कांड: सुप्रीम कोर्ट ने कहा-बिहार में सबकुछ ठीक नहीं है

मुजफ्फरपुर कांड: सुप्रीम कोर्ट ने कहा-बिहार में सबकुछ ठीक नहीं है

मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण मामले में बुधवार को सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर बिहार सरकार को लताड़ लगाई है। कोर्ट ने बिहार सरकार के वकील से पूछा कि वहां हो क्या रहा है। कोर्ट ने इस बात पर आपत्ति जताई कि आखिर क्यों अभी तक बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। सुप्रीम कोर्ट ने कड़े शब्दों में कहा कि बिहार में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। कोर्ट ने कहा कि बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा छिप रही है और सरकार उनके बारे में नहीं जानती है। कोर्ट ने आगे कहा कि उनकी जमानत याचिका खारिज होने के बावजूद सरकार उन्हें गिरफ्तार होने में विफल रही। मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण मामले में बुधवार को सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर बिहार सरकार को लताड़ लगाई है। कोर्ट ने बिहार सरकार के वकील से पूछा कि वहां हो क्या रहा है। कोर्ट ने इस बात पर आपत्ति जता
शर्मनाक: बिहार के अस्पताल में मासूम की चूहे ने ले ली जान

शर्मनाक: बिहार के अस्पताल में मासूम की चूहे ने ले ली जान

बिहार में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का एक और मामला सामने आया है। राज्य के दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (डीएमसीएच) में चूहे के काटने से कथित तौर पर एक नवजात के मौत हो गई है। चिकित्सक हालांकि इन आरोपों को सिरे से खारिज कर रहे हैंं। वहीं मामले की जांच कराने की बात कही है। मधुबनी के सकरी थाना के नजरा गांव निवासी फिरन चौपाल का कहना है कि गंभीर रूप से बीमार होने के कारण उसने अपने नवजात बच्चे को यहां भर्ती कराया था। आरोप है कि नवजात शिशुरोग विभाग के गहन चिकित्सा कक्ष में सोमवार देर रात चूहे के कुतरने से नौ दिन के बच्चे की मौत हो गई। परिजनों का क्या है कहना बच्चे के पिता चौपाल का कहना है कि रात एक बजे तक बच्चा पूरी तरह स्वस्थ था। मंगलवार सुबह पांच बजे उसे देखने पहुंचा तो देखा कि बच्चे के हाथ और पैर को चूहे कुतर रहे थे और बच्चा मृत पड़ा था। उन्होंने कहा कि नर्स और चिकित्सकों की लापरवाही के
सुप्रीम कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर को पंजाब के जेल भेजने का दिया आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर को पंजाब के जेल भेजने का दिया आदेश

मुजफ्फरपुर बालिका गृह में यौन शोषण मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए मुख्य आरोपित ब्रजेश ठाकुर को पंजाब के उच्च सुरक्षावाले पटियाला जेल में स्थानांतरण का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इससे जांच प्रभावित नहीं होगी। वहीं, बिहार सरकार से पूछा है कि बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा की गिरफ्तारी अब तक क्यों नहीं हुई। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि घटना के तीन माह तक 'वह' मंत्री बनी रहीं, यह हैरान करनेवाला है। कोेर्ट ने कहा कि बिहार में कैबिनेट मंत्री होने के कारण वह (पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा) कानून से ऊपर नहीं हो सकतीं। पूरी बातें बेहद संदिग्ध है। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई अधिकारियों से 20 सितंबर से अब तक की पूरी जांच की रिपोर्ट 31 अक्टूबर तक मांगी है। अधिवक्ताओं ने बालिका गृह में लड़कियों को दवाएं दिये जाने की बात सुप्रीम कोर्ट को बताया। इस पर प
जब शहाबुद्दीन के वकील पर चीफ जस्टिस को आया गुस्सा!

जब शहाबुद्दीन के वकील पर चीफ जस्टिस को आया गुस्सा!

सीवान के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने तेजाब कांड में  शहाबुद्दीन और उसके तीन सहयोगियों को हाई कोर्ट से मिली उम्र कैद की सजा बरकरार रखी है। इस मामले में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ ने महज कुछ मिनटों में अपना फैसला सुना दिया। वहीं इस दौरान जब शहाबुद्दीन के वकील ने कुछ बोलने की कोशिश की तो चीफ जस्टिस की पीठ ने उन्हें जमकर फटकार लगाई और कई सवाल दाग दिए। अपनी दलील अपने पास रखिए कोर्ट ने पूछा, शहाबुद्दीन के खिलाफ गवाही देने जा रहे राजीव रौशन को क्यों मार दिया? उसके मर्डर के पीछे कौन था? कोर्ट ने कहा, अगर आपके पास इसके तथ्य नहीं हैं तो अपनी दलील अपने पास रखिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह हाईकोर्ट के फैसले में दखल नहीं देगा। इस अपील में कानूनी तथ्य नहीं है। आपको बता दें कि जस्टिस गोगोई की इस पीठ में जस्टिस एसके कौल और केएम जोसेफ भी शामि
शहाबुद्दीन को बड़ा झटका, SC ने बरकरार रखी उम्रकैद की सजा

शहाबुद्दीन को बड़ा झटका, SC ने बरकरार रखी उम्रकैद की सजा

सीवान केे पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। दरअसल, कोर्ट ने चंदा बाबू के बेटों की हत्या मामले में शहाबुद्दीन की उम्रकैद की सजा को बरकरार रखा है। कोर्ट ने इस मामले में पटना हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए शहाबुद्दीन की हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील खारिज कर दी है। क्या कहा चीफ जस्टिस ने सुनवाई के दौरान CJI रंजन गोगोई की बेंच ने शहाबुद्दीन के वकीलों से कई सवाल पूछे, लेकिन उनके जवाब नहीं मिले। जस्टिस गोगोई ने पूछा कि इस दोहरे हत्याकांड के गवाह तीसरे भाई राजीव रोशन की कोर्ट में गवाही देने जाते समय हत्या क्यों की गई? इस हमले के पीछे कौन था? सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह हाईकोर्ट के फैसले में दखल नहीं देगा। इस अपील में कानूनी तथ्य नहीं है। क्या है मामला बता दें कि अगस्त 2004 में सीवान में चंदा बाबू के बेटे सतीश और गिरीश रोशन की एसिड अटैक कर
error: Content is protected !!