townaajtak@gmail.com

Month: January 2018

निरहुआ का एक और धमाका, ‘लल्लू की लैला’ का लुक रिलीज

निरहुआ का एक और धमाका, ‘लल्लू की लैला’ का लुक रिलीज

निरहुआ चलल लंदन के ट्रेलर की अपार सफलता के बाद भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ एक और धमाका किया है। दरअसल, हाल ही में निरहुआ की फिल्म ‘ लल्लू की लैला ‘ का अनोउसमेंट सोशल मीडिया पर किया गया था और अब इस फिल्म का पोस्टर रिलीज़ कर दिया गया है। इस फिल्म में एक बार फिर दिनेश लाल यादव के साथ आम्रपाली दुबे और काजल राघवानी नजर आएंगी। बता दें कि निरहुआ चलल लंदन में भी आम्रपाली दूबे मुख्य एक्ट्रेस हैं। ये फिल्म कॉमेडी और रोमांस से भरपूर होगी और फिल्म में निरहुआ का जबरदस्त अभिनय देखने को मिल सकता है। इस फिल्म को रिद्धि फिल्म्स के बैनर तले बनाया जा रहा है। फिल्म के निर्माता रत्नाकर कुमार और निर्देशक सुशिल उपाध्याय है।

जानिए वायरल हो रही इस तस्वीर का सच!

इन दिनों सोशल मीडिया पर नीचे दी हुर्इ् एक तस्वीर वायरल हो रही है। यह तस्वीर सजल चक्रवर्ती की बताई जा रही है। वो सजल चक्रवर्ती जो कभी झारखंड के मुख्य सचिव रहे हैं। इस तस्वीर के साथ सोशल मीडिया पर एक लंबा चौड़ा मैसेज भी वायरल हो रहा है। संक्षेप में बताएं तो मैसेज में लिखा गया है — ये तस्वीर सजल चक्रवर्ती की है कुछ दिन पहले तक झारखंड के चीफ सेक्रेटरी थे लेकिन चारा घोटाला में इनका भी नाम आ गया और दोषी भी करार हो गए। इनका वजन करीब 150 किलो है, कई बीमारियों से ग्रसित है ठीक से चल नहीं पाते । मैसेज के मुताबिक सजल ने दो शादी की है लेकिन दोनों बीबियों ने तलाक दे दिया। चारा घोटाला में पेशी के दौरान कोर्ट रूम में सबका कोइ कोई ना कोई था लेकिन इनकी आँखे जैसे किसी अपने को खोज रही थी । क्या है सच वायरल हो रही यह तस्वीर बिल्कुल सही है। दरअसल, सजल चक्रवर्ती झारखंड के मुख्य सचिव रहे। चारा घोटाला
सीवान : जेपी यूनिवर्सिटी के VC के खिलाफ इस्लामिया कॉलेज ने खोला मोर्चा

सीवान : जेपी यूनिवर्सिटी के VC के खिलाफ इस्लामिया कॉलेज ने खोला मोर्चा

सीवान का जेडए इस्लामिया पीजी कॉलेज इन दिनों सुर्खियों में है। दरअसल, कॉलेज के अधिकारियों ने जेपी यूनि​वर्सिटी के वीसी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। यह मामला शिक्षकों की प्रोन्नति और वित्तीय अनियमितताओं से जुड़ा हुआ है। जानकारी के मुताबिक कॉलेज सचिव जफर अहमद गनी ने कुलपति पर कॉलेज के शासी निकाय को बिना किसी सूचना के कॉलेज के शिक्षकों को प्रोन्नति देने का आरोप लगाया है। सचिव ने कहा है कि 1990 से 1994 तक नियुक्त हुए शिक्षकों को 2005-06 में सामंजन के लिए पदों की स्वीकृति दी थी और पत्र में इसके पूर्व किसी भी तरह के बकाया देय को अस्वीकृत कर दिया था, लेकिन कुलपति ने पत्रांक 1293-ईएसटी-1 दिनांक 18 अक्टूबर 2017 को नियमों की अवहेलना करते हुए सभी शिक्षकों को मनमाने तरीके से प्रोन्नत कर दिया। उन्होंने सरकार के पत्र का हवाला भी दिया। इसके अलावा कोर्ट में दायर याचिका में इस बात का भी जिक्र किया गया ह
तेजप्रताप ने हिंदू और मुस्लिम समाज के लिए लिखी कविता

तेजप्रताप ने हिंदू और मुस्लिम समाज के लिए लिखी कविता

राजद सुप्रीमों लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव अपने कारनामों की वजह से हमेशा चर्चा में बने रहते हैं। पिछले दिनों उन्होंने राजमिस्त्री का काम किया तो मीडिया में खूब चर्चा हुई। वहीं अब उन्होंने दो तस्वीरों के साथ हिंदू और मुस्लिम समाज के लिए खास संदेश दिया है। अहम बात ये है कि उन्होंने यह संदेश कविता के माध्यम से दिया है। उन्होंने लिखा — हाथों में अपने गीता और दिल मे कुरान रखेंगे, प्यार बढ़ाएं आपस में हम ऐसा धर्म-ईमान रखेंगे, शंख बजाएं हम और अमन की अजान रखेंगे, आओ दोस्तों हम मस्जिद और मन्दिर भी रखेंगे, पर सबसे पहले अपना हिंदुस्तान रखेंगे।। तेजप्रताप का यह ट्वीट ऐसे समय में आया है जब यूपी का जिला कासगंज सांप्रदायिक तनाव के दौर से गुजर रहा है। कासगंज के मुद्दे पर तेजप्रताप ने एक अन्य ट्वीट भी किया था। इसमें उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था — नितीश

तेजस्वी क्यों बोले, प्रिय बिहारवासियों आप हैरान नही होना…

बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव लगभग हर मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरने का काम करते हैं। यही वजह है कि दिन में उनका एक तीन से चार ट्वीट नीतीश कुमार के उपर तंज होता है। तेजस्वी का नीतीश कुमार पर जो लेटेस्ट तंज है वो उन्हें केंद्र सरकार द्वारा मिले बंगले को लेकर है। तेजस्वी ने लिखा — नीतीश जी को दिल्ली में रहने के लिए BJP ने बड़ा बंगला दे दिया गया है।हफ़्ते मे 4 दिन दिल्ली रहने लगे है।लालू जी को फँसाना और सृजन घोटाले में ख़ुद को बचाना ही लक्ष्य रह गया है।प्रिय बिहारवासियों, आप हैरान नही होना अगर इस साल एक और सरकार बिहार में बने। फिर होगा पांच साल,पांच सरकार! तेजस्वी ने इसके अलावा दो और ट्वीट किए। इसमें भी उन्होंने नीतीश कुमार को जमकर निशाना साधा। उन्होंने लिखा — नीतीश कुमार अपनी कारगुजारियों की वजह से अपने राजनीतिक जीवन के सबसे कठिनतम दौर से गुज़र रहे है।जिस सहयोगी को दिन-दहाड़
चंद घंटों में पेश होगा देश का आम बजट, जानिए नीतीश कुमार ने बिहार के लिए क्या मांगा

चंद घंटों में पेश होगा देश का आम बजट, जानिए नीतीश कुमार ने बिहार के लिए क्या मांगा

देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली आज चंद समय में आम बजट पेश करने वाले हैं। यह बजट कइ्र मायने में खास है। दरअसल, जीएसटी लागू होने के बाद पहली बार है जब आम बजट पेश हो रहा है। वहीं अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर भी इस बजट को देखा जा रहा है। वहीं 8 राज्यों में इस साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में इन राज्यों के लिए कुछ खास जरुर रह सकता है। इसके अलावा देश के युवाओं को रोजगार और एजुकेशन लोन समेत कई और उम्मीदें हैं। लड़कियों के लिए भी शिक्षा और सुरक्षा से जुड़े कई खास एलान हो सकते हैं। किसान, व्यापारी और रेलवे समेत इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर के लिए भी कुछ खास तोहफा मिल सकता है। वहीं टैक्स से जुड़े कई खास एलान होने की संभावना है। नीतीश कुमार कर चुके हैं जेटली से भेंट केंद्रीय बजट पेश होने के दो दिन पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को अरुण जेटली से मुलाकात की थी
नीतीश कुमार को केंद्र का तोहफा, दिल्ली में मिला आलीशान बंगला

नीतीश कुमार को केंद्र का तोहफा, दिल्ली में मिला आलीशान बंगला

नीतीश कुमार को करीब 1 महीने के भीतर केंद्र सरकार की ओर से बड़ा तोहफा मिला है। पहले उन्हें जेड प्लस की सुरक्षा दी गई और अब दिल्ली में एक आलीशान बंगला मिला है। यह बंगला लुटियन दिल्ली में है। जानकारी के मुताबिक आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने जदयू अध्यक्ष को 6 के कामराज मार्ग पर बंगला आवंटित किया है। एक अधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में हर राज्य के लिए बंगलों का एक कोटा है और उसके आधार पर मुख्यमंत्री के नाते नीतीश को आवास दिया गया है। बता दें कि साल 2001 से 2004 तक राजग सरकार में रेल मंत्री रहते अपने कार्यकाल में नीतीश यहां अकबर रोड पर एक बड़े बंगले में रहते थे। मिल चुकी है जेड प्लस पिछले दिनों ही नीतीश कुमार को जेड प्लस की सुरक्षा दी गई। यह सुरक्षा उन्हें बक्सर में काफिले पर हमले के बाद दी गई। इसके बाद बिहार विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा।
सीबीआई की विशेष अदालत में पेश हुए लालू

सीबीआई की विशेष अदालत में पेश हुए लालू

अरबों रुपये के बहुचर्चित चारा घोटाले के तीन मामलों में सजायाफ्ता राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव आज यहां केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत में पेश हुये। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत में चारा घोटाला के नियमित मामले 47ए/96 में श्री यादव सशरीर हाजिर हुये। यह मामला डोरंडा कोषागार से 184 करोड रुपये की अवैध निकासी का है। इस मामले में अभियोजन ने दो गवाह चन्द्रभूषण सिंह और राम प्रसिद्ध सिंह को पेश किया और इन दोनो गवाहों ने अपना बयान दर्ज कराया। बाद में बचाव पक्ष के अधिवक्ता ने दोनो से सवाल पूछे। यादव चारा घोटाला के एक अन्य मामले 38ए/96 में शिवपाल सिंह की अदालत में वीडिया कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेश हुये। यह मामला दुमका कोषागार से तीन करोड़ 97 लाख से अधिक रुपये की अवैध निकासी का है।
बजट 2018 : क्‍या लगेगा चुनावी तड़का ?

बजट 2018 : क्‍या लगेगा चुनावी तड़का ?

कहते हैं राजनीति में हर किसी का मकसद सत्‍ता पाना होता है। यही वजह है कि राजनेता को जो भी मौके मिलते हैं उसे भुनाने में कसर नहीं छोड़ते हैं। अब आम बजट 2018 भी बीजेपी के लिए एक मौका है। ऐसे में उम्‍मीद है कि आम बजट में राजनीति का तड़का लगने वाला है। दरअसल, इस साल देश के 8 राज्यों में होने वाले चुनाव हैं, जिसका असर बजट पर भी दिख सकता है। ऐसे में वित्त मंत्री अरुण जेटली कुछ ऐसी घोषणाएं कर सकते हैं, जिनका फायदा इन राज्यों को भी मिले। इस क्रम में सरकार नई रूरल स्कीम की शुरुआत कर सकती है और मनरेगा, रूरल हाउसिंग, इरीगेशन प्रोजेक्ट्स और क्रॉप इन्श्योरेंस के लिए फंडिंग भी बढ़ा सकती है। इस साल आठ राज्‍यों में होने हैं चुनाव इस साल देश के आठ राज्‍यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इनमें तीन राज्‍य मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ हैं, जहां बीजेपी की सरकार है। इसकी चिंता बीजेपी को भी है, क
बजट 2018 : जेटली से क्‍या चाहते हैं देश के युवा

बजट 2018 : जेटली से क्‍या चाहते हैं देश के युवा

चंद घंटों में ही संसद में देश का आम बजट पेश होने वाला है। यह बजट कई मायने में अहम है। दरअसल, जीएसटी लागू होने के बाद पहली बार है जब आम बजट पेश हो रहा है। वहीं अगले साल होने वाले आम चुनाव भी होने वाले हैं। ऐसे में स्‍वाभाविक है कि भारत समेत दुनिया की निगाहें बजट पर होंगी। इस बजट से देश के युवाओं को भी काफी उम्‍मीदें हैं। खासकर रोजगार, एजुकेशन लोन, टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम , सर्व शिक्षा अभियान आदि क्षेत्रों के लिए देश का युवा वर्ग मोदी सरकार के बजट की ओर टकटकी लगाए देख रहा है। बजट से युवाओं की क्या उम्मीदें हैं, आइए इस पर नजर डालते हैं। - वित्त मंत्री से युवाओं ने यह उम्मीद लगा रखी है कि वे इस बार स्कूली शिक्षा के बजट में कम से कम 14 प्रतिशत की बढ़ोतरी करें, ताकि इससे शिक्षा की स्थिति में गुणवत्तापूर्ण सुधार आ सके। - देश के सामाजिक ताना-बाना को देखते हुए बुनियादी शिक्षा की स्थिति म
error: Content is protected !!